मस्जिद

रशीदी ने कहा है कि, ''मंदिर को गिराने के बाद मस्जिद का निर्माण तो नहीं किया गया था, लेकिन अब हो सकता है कि मस्जिद बनाने के लिए मंदिर तोड़ा जाए।"

कोर्ट और सरकार ने उनकी मांग पूरी कर दी है। 24 जुलाई से हागिया सोफिया म्यूजियम  में करीब 84 साल बाद एक बार फिर से नमाज पढ़ी जाएगी।

आये दिन पुलिसकर्मी पर हमले की खबर आती है। ऐसा ही मामला आया असम के लखीमपुर में भी आया है। जहां नमाज पढ़ने से रोकने पर पुलिसकर्मियों पर पथराव किया गया।

बीते 4 दिनों में पुलिस हेल्थ वर्कर और अधिकारियों ने दिल्ली के कई मस्जिदों में जाकर जांच की और पाया कि 800 से अधिक ऐसे विदेशी वहां पर अभी भी मौजूद हैं।

कश्मीर के श्रीनगर में कुछ लोगों ने कोरोनावायरस के बीच जुमे के दिन मस्जिदों में जाकर नमाज पढ़ने की कोशिश की। कई ऐसे भी लोग थे जिन्होंने शुक्रवार के दिन जुमे की सामूहिक नमाज का आयोजन किया। अब पुलिस ने लॉकडाउन का उल्लंघन करने वाले ऐसे लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली है

जमीयत ए उलेमा हिंद के मुखिया मौलाना अरशद मदनी ने भी अपील की है कि कोरोना की महामारी को देखते हुए मुसलमानों को मस्जिद की बजाय अपने घरों में नमाज अदा करनी चाहिए। 

मस्जिदों के पदाधिकारियों से नमाज के समय सिर्फ अजान करके लोगों को जानकारी देने का अनुरोध किया था और नमाज घरों में पढ़ने की बात कही थी।

सुन्नी वक्फ बोर्ड आम लोगों की राय के साथ चलना चाहता है। शीर्ष अदालत के फैसले के बाद सुन्नी वक्फ बोर्ड को कई लोगों ने मस्जिद के साथ ही अस्पताल व किसी बड़े शैक्षणिक संस्थान का निर्माण कराने की राय भी दी थी।

इस्लामिक रिपब्लिक ऑफ ईरान के कल्चर व गाइडेंस उप मंत्री डॉ मोहसिन जावादी ने नई दिल्ली में 'पुस्तक निर्यात बाजार' पर एक सम्मेलन से इतर आईएएनएस से कहा कि भारत-ईरान के संबंध ईरान के सामने उत्पन्न संकट से स्वतंत्र हैं।

मंदिर, मस्जिद को लेकर अयोध्या में जहां कई दशकों तक विवाद चला, वहीं वहां से महज 50 किलोमीटर दूर गोंडा जिले का वजीरगंज सामाजिक सौहार्द और सहिष्णुता की मिसाल पेशकर रहा है। यहां हिन्दू-मुस्लिम एक दूसरे का सम्मान कर अपनी सहिष्णुता का परिचय देते हैं।