महात्मा गांधी

साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के गोडसे को देशभक्त बताने के बाद अब मध्य प्रदेश के शिक्षा विभाग ने गांधी के नाम के साथ एक निंदनीय विशेषण जोड़ दिया है। मध्य प्रदेश के शिक्षा विभाग का एक हैरान करने वाला कारनामा सामने आया है।

कांग्रेस की एक गलती ने प्रज्ञा ठाकुर को वापसी का बड़ा मौका दे दिया है। प्रज्ञा ठाकुर ने कांग्रेस पर ना सिर्फ करारा पलटवार किया है बल्कि वह अब कांग्रेस की सोच के खिलाफ बड़ा अभियान छेड़ने की तैयारी में भी हैं।

बीजेपी सांसद साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के पद चिन्हों पर चलने वालों की संख्या बढ़कर बढ़ती जा रही है। प्रज्ञा के यह समर्थक कोई और नहीं बल्कि बीजेपी के ही विधायक हैं।

राजनाथ सिंह ने भी लोकसभा में प्रज्ञा के बयान की निंदा करते हुए कहा, "नाथूराम गोडसे को देशभक्त कहे जाने की बात तो दूर, हम उन्हें देशभक्त मानने की सोच की ही निंदा करते हैं। महात्मा गांधी हम लोगों के आदर्श हैं। वह पहले भी हमारे मार्गदर्शक थे और भविष्य में भी मार्गदर्शक रहेंगे। उनकी विचारधारा उस समय भी प्रासंगिक थी, आज भी है और आगे भी रहेगी।"

महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे को देशभक्त बताना भाजपा सांसद साध्वी प्रज्ञा ठाकुर को महंगा पड़ गया। संसदीय कार्यमंत्री प्रह्लाद जोशी ने साध्वी प्रज्ञा को रक्षा मंत्रालय की संसदीय समिति से निकाल दिया है। इसके साथ ही सत्र के दौरान होने वाले भाजपा संसदीय दल की बैठकों में भी साध्वी प्रज्ञा को नहीं आने का फरमान सुनाया गया है।

भाजपा सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने बुधवार को लोकसभा में एसपीजी संशोधन विधेयक पर चर्चा के दौरान राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे का हवाला 'देशभक्त' के तौर पर दिया जिसको लेकर कांग्रेस सदस्यों ने कड़ा विरोध दर्ज कराया।

भोपाल से सांसद साध्वी प्रज्ञा ने गांधी संकल्प यात्रा से दूरी बनाए रखी थी। वह इस यात्रा में शामिल नहीं हुई थी। इसे लेकर काफी विवाद भी हुआ था। जब उनसे इस बाबत पूछा गया तो साध्वी ने गांधी को राष्ट्रपिता के बजाय राष्ट्र का पुत्र करार दिया। मगर साध्वी ने साथ में यह भी जोड़ दिया कि देश में और भी कई वीर हैं।

इस कार्यक्रम का हिस्सा आमिर खान, शाहरुख खान और कंगना रनौत समेत तमाम बड़े सितारें बनें। इस कार्यक्रम में पीएम मोदी ने लोगों से महात्मा गांधी के विचारों के बारे में संवाद किया। 

सरकार के इस फैसले से केंद्रीय स्कूल के लगभग 13 लाख बच्चों को महात्मा गांधी के विचारों के नजदीक आने का मौका मिलेगा। सरकार का मानना है कि खादी उनके लिए काफी सहूलियत भरी भी रहेगी

महात्मा गांधी की 150 जयंती के मौके पर महाराष्ट्र के औरंगाबाद में एक जनसभा को संबोधित करते हुए ओवैसी ने कहा कि मौजूदा गोडसे गांधी के हिन्दुस्तान को खत्म कर रहे हैं।