महात्मा गांधी

मोदी सरकार महात्मा गांधी की 150 वीं जयंती पर कैदियों की रिहाई करने जा रही है। यह कदम कैदियों में सुधारात्मक रवैया की खातिर उठाया जा रहा है।

कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता ने कहा कि महात्मा गांधी की जयंती पर भाजपा साफ-सफाई पर जोर दे रही है लेकिन सभी जानते हैं कि यह महज राजनीति है। कार्यक्रम के बाद पार्टी गांधीवादी मूल्यों पर सेमिनार और व्याख्यान आयोजित करेगी।

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने शनिवार को 'हिंदी दिवस' के अवसर पर देश को शुभकामनाएं दीं और नागरिकों से महात्मा गांधी और सरदार वल्लभभाई पटेल के सपनों को साकार करने के लिए अपने रोजमर्रा के कामों में हिंदी भाषा का प्रयोग बढ़ाने के लिए आग्रह किया।

पीएम मोदी ने राष्ट्रपिता, पूर्व पीएम वाजपेयी और शहीदों को दी श्रद्धांजलि

कांग्रेस शासित राज्यों से वीर सावरकर को लेकर कई तरह की घटिया टिप्पणी जारी है। वीर सावरकर की जयंती से ठीक पहले ही उन्हें नायक से खलनायक बनाने की कवायद तेज कर दी गई।

कांग्रेस ने यह कदम तब उठाया है, जब एक दिन पहले गुरुवार को मालेगांव विस्फोट की आरोपी प्रज्ञा ठाकुर ने महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे को देशभक्त करार दिया था। उन्होंने कहा था, "नाथूराम गोडसे एक देशभक्त थे, हैं और रहेंगे। उन्हें आतंकवादी कहने वाले अपने गिरेबान में झांक कर देखें। इस चुनाव में ऐसे लोगों को सबक सिखाया जाएगा।"

अनिल सौमित्र ने अपनी फेसबुक वॉल पर लिखा है, "राष्ट्रपिता थे, लेकिन पाकिस्तान राष्ट्र के। भारत राष्ट्र में तो उनके जैसे करोड़ों पुत्र हुए। कुछ लायक तो कुछ नालायक।"

पीएम मोदी ने एक निजी चैनल से बात करते हुए कहा, "गांधी जी या गोडसे के बारे में जो बयान दिए गए हैं वो बहुत ख़राब है और समाज के लिए बहुत गलत हैं।

भाजपा की तरफ से ये भी कहा गया कि प्रज्ञा ठाकुर को इस बयान के लिए माफी मांगनी चाहिए। बीजेपी की किरकिरी होते देख गुरुवार(16 मई) को दिन में दिए इस बयान पर प्रज्ञा ठाकुर ने शाम होते होते आखिरकार माफी मांग ली।

प्रज्ञा ठाकुर के इस बयान से भाजपा ने अपना पल्ला झाड़ लिया है और कहा कि प्रज्ञा ठाकुर को इस बयान के लिए माफी मांगनी चाहिए। भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता जीवीएल नरसिम्हा राव ने कहा कि, इस बयान के लिए हम प्रज्ञा ठाकुर से स्पष्टीकरण मांगेंगे।