महाराष्ट्र

महाराष्ट्र में कोरोना वायरस रोगियों के लिए निर्धारित प्रमुख दवाओं की कमी पड़ गई है और उनकी कालाबाजारी शुरू हो गई है।

महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने राजभवन में एक दर्जन से अधिक कर्मचारियों के कोविड-19 से संक्रमित पाए जाने के बाद खुद को क्वारंटीन कर लिया है।

धुले नगर निगम में पड़ने वाले मोहदी के रहने वाले खैरनार की प्रारंभिक पढ़ाई-लिखाई मोहदी में हुई थी। खैरनार फरवरी 1988 से मुंबई नगर निगम में कार्यरत थे।

इस समय देश में कोरोनावायरस अपना कहर महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा बरपा रहा है। वहां की 14 जेलों में अब तक 600 कैदियों और 174 कर्मचारियों समेत कुल 774 लोग कोरोना वायरस से संक्रमित पाए जा चुके हैं।

महाराष्ट्र में मुंबई सहित तटीय कोंकण में रविवार को लगातार तीसरे दिन भारी बारिश जारी रही और भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने अगले दो-पांच दिनों के लिए हाई अलर्ट जारी किया है। अधिकारियों ने यह जानकारी दी।

महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के बढ़ते हुए मामलों को देखते हुए उद्धव ठाकरे सरकार ने लॉकडाउन बढ़ाने का फैसला लिया है। राज्य में 31 जुलाई तक लॉकडाउन लागू रहेगा। इससे पहले 30 जून तक के लिए लॉकडाउन बढ़ाया गया था।

मुख्यमंत्री ने चल रहे महामारी के मद्देनजर सभी डॉक्टरों और निजी अस्पतालों से अपनी सेवाएं शुरू करने की अपील की। इसके साथ ही, मुंबई पुलिस ने लोगों से सख्ती से दिशानिर्देशों का पालन करने का आग्रह करते हुए रविवार को हैशटैगमिशनबिगिनअगेन के तहत कई उपायों की घोषणा की।

देश में कोरोनावायरस का प्रकोप सबसे ज्यादा महाराष्ट्र में देखने को मिल रहा है। राज्य में आज एक दिन में पांच हजार से ज्यादा मामले आए हैं। ये अब तक का सबसे बड़ा आंकड़ा है।

यूसुफ मेमन को साल 2007 में उम्रकैद की सजा सुनाई गई थी। पहले वह मुंबई की ऑर्थर रोड जेल में बंद था। साल 2018 में उसे नासिक की जेल में भेज दिया गया था।

महाराष्ट्र में कोरोना का कहर सबसे ज्यादा देखा जा रहा हैं। इस घातक महामारी से जान गवांने वाले पुलिकर्मियों के परिवारों को सरकार ने तोहफा दिया है। सरकार ने घोषणा की है कि मृतक पुलिसकर्मियों के परिवारों को 65 लाख रुपये आर्थिक सहायता देंगे।