महाराष्ट्र विधानसभा

कांग्रेस नेता नाना पटोले निर्विरोध महाराष्ट्र विधानसभा के अध्यक्ष बन गए हैं। कांग्रेस, शिवसेना और एनसीपी के गठबंधन महाविकास आघाड़ी ने उन्हें संयुक्त रूप से स्पीकर पद का उम्मीदवार बनाया था।

उद्धव ठाकरे के नेतृत्व में बनी महाविकास अघाड़ी सरकार ने महाराष्ट्र विधानसभा में बहुमत हासिल कर लिया है। विधानसभा की कार्यवाही के दौरान भाजपा के सदस्यों ने सदन का बहिष्कार किया। जिसके बाद सदस्यों की गिनती कर बहुमत परीक्षण की प्रक्रिया पूरी की गई। सभी सदस्यों ने अपनी सीट पर उठकर नाम और क्रमांक बताया।

महाराष्ट्र में उद्धव ठाकरे के नेतृत्व में बनी सरकार की मुश्किलें हर गुजरते दिन के साथ बढ़ रही है। शनिवार को बहुमत साबित करने से पहले डिप्टी सीएम और स्पीकर के पद को लेकर कांग्रेस-एनसीपी में रस्साकशी शुरू हो गई है।

महाराष्ट्र में विभिन्न राजनीतिक दलों और निर्दलीय 287 नवनिर्वाचित विधायक बुधवार को यहां महाराष्ट्र विधानसभा के विशेष सत्र में शपथ ग्रहण कर रहे हैं। उन्हें प्रोटेम स्पीकर कालिदास एन कोलांबकर शपथ दिला रहे हैं।

हरियाणा में कुल 90 विधानसभा सीटें है, जिसमें सरकार बनाने के लिए 46 सीटें चाहिए। चुनाव नतीजों में भाजपा को 40, कांग्रेस को 31, जेजेपी(जननायक जनता पार्टी) को 10 और निर्दलीय विधायकों को 9 सीटें मिली हैं।

288 सदस्यीय महाराष्ट्र विधानसभा में बीजेपी के पास 122 सीटें हैं, वहीं शिवसेना के पास 63 सीटें हैं। वहीं अब महाराष्ट्र विधानसभा के लिए चुनाव 21 अक्टूबर को होंगे और नतीजे 24 अक्टूबर को घोषित किए जाएंगे।

शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा, "इतना बड़ा महाराष्ट्र है ये जो 288 सीटों का बंटवारा है ये भारत पाकिस्तान के बंटवारे से भी भयंकर है। यदि हम सरकार में होने के बजाय विपक्ष में होते तो तस्वीर दूसरी होती।

कांग्रेस को झटका देते हुए, महाराष्ट्र विधानसभा में विपक्ष के नेता राधाकृष्णन विखे पाटील के बेटे सुजय विखे पाटील मंगलवार को भाजपा में शामिल हो गए। सुजय विखे-पाटील का मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़णवीस समेत भाजपा के वरिष्ठ नेताओं ने स्वागत किया और राज्य पार्टी प्रमुख रावसाहेब दानवे-पाटील ने उन्हें भाजपा का झंडा दिया।