महाराष्ट्र सरकार

सूबे के सभी जिलों में जरूरत के लिए प्राइवेट एंबुलेंस अधिग्रहित करने का महाराष्ट्र सरकार ने आदेश जारी किया है। सरकार जिनके एंबुलेंस और वाहन लेगी, उसका उन्हें निर्धारित किराया भी देगी। इन एंबुलेंस की सेवा लेने वालों को सरकारी दर पर भुगतान करना होगा।

इससे पहले टेलीकॉम ​डिपार्टमेंट भारत संचार निगम लिमिटेड (BSNL) से 4G अपग्रेडेशन सुविधा में चीनी इक्विमेंट्स का इस्तेमाल नहीं करने नहीं करने का फैसला किया था।

याचिकाकर्ताओं के एक समूह, जूना अखाड़ा के सभी पुजारियों और पीड़ितों के कुछ रिश्तेदारों ने शीर्ष अदालत को बताया कि उन्हें महाराष्ट्र सरकार या पुलिस पर कोई भरोसा नहीं है।

कुछ दिनों पहले अम्फान तूफान ने तबाही मचाई और अब एक और तूफान का खतरा मुंबई पर मंडरा रहा है। बुधवार यानि तीन जून को महाराष्ट्र के तटीय इलाकों में चक्रवात निसर्ग दस्तक दे सकता है।

एक नहीं बल्कि तीन अस्पतालों की लापरवाही की वजह से एक गर्भवती महिला की जान चली गई। महाराष्ट्र के ठाणे से चिकित्सा लापरवाही की ये चौंकाने वाली घटना सामने आई है।

सलमान खान एक बार फिर कोरोना संकट के बीच आगे आये हैं। इस मुश्किल घड़ी में भी अपनी सेवाएं दे रही मुंबई पुलिस को सलमान की टीम ने एक लाख हैंड सैनिटाइजर बांटे हैं। सलमान के इस पहल की हर तरफ तारीफ हो रही है।

मायावती ने बुधवार को ट्वीट कर कहा, "केन्द्र व महाराष्ट्र सरकार के बीच विवाद के कारण लाखों प्रवासी श्रमिक अभी भी बहुत बुरी तरह से पिस रहे हैं जो अति-दु:खद व दुर्भाग्यपूर्ण। जरूरी है कि आरोप-प्रत्यारोप छोड़कर इन मजलूमों पर ध्यान दें ताकि कोरोना की चपेट में फंसकर इन लोगों की जिन्द्गी पूरी तरह बर्बाद होने से बच सके।"

कोरोना संकटकाल के बीच एक बार फिर महाराष्ट्र में सियासत गर्म है। महाराष्ट्र में एक बार फिर राजनीतिक ड्रामा शुरू हो गया है।

24 मई की रात 12 बजे रेल मंत्री पीयूष गोयल ने ट्वीट किया और लिखा, 'रात के 12 बज चुके है और 5 घंटे बाद भी हमारे पास महाराष्ट्र सरकार से कल की 125 ट्रेनों की डिटेल्स और पैसेंजर लिस्टें नही आयी है। मैंने अधिकारियों को आदेश दिया है, फिर भी प्रतीक्षा करे और तैयारियां जारी रखे।'

बंगाल की खाड़ी से उठ रहे चक्रवात ने रफ्तार पकड़ ली है। यह 200 किमी की रफ्तार से आगे बढ़ रहा है। इस भीषण चक्रवात को देखते हुए महाराष्ट्र सरकार ने ऐलान किया है कि महाराष्ट्र से ओडिशा और पश्चिम बंगाल की ओर चलाई जा रही श्रमिक स्पेशल ट्रेनों को 21 मई तक के लिए रद्द कर दिया है।