महाराष्ट्र सरकार

सुप्रीम कोर्ट ने महाराष्ट्र के पालघर में हुई मॉब लिचिंग मामले में रिपब्लिक टीवी के प्रधान संपादक अर्णब गोस्वामी के खिलाफ दायर याचिका सीबीआई को ट्रांसफर करने से इनकार कर दिया है।

महाराष्ट्र सरकार से अनुमति पत्र लेने के बाद नवाजुद्दीन 15 मई को अपने घर पहुंचे हैं। यहां उन्हें अपने परिवार संग 25 मई तक क्वारंटाइन में रहने को कहा गया है। मुंबई से बुढ़ाना नवाज अपनी खुद की गाड़ी से आए और इस सफर में उनके साथ उनकर मां, भाभी और भाई भी मौजूद रहे।

मंत्री ने कहा, प्रवासियों को रोजगार देने के लिए श्रम कानून में 1000 दिन के लिए शिथिलता दी गई है। लेकिन श्रमिकों के हितों से जुड़े कानून में किसी प्रकार की ढिलाई नहीं दी गयी है। इस नए कानून में श्रमिकों की अनदेखी न की गई है और न ही की जाएगी। इसके अलावा काम के घंटे नहीं बढ़ाए जाएंगे।

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री और शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे को गुरुवार को निर्विरोध राज्य विधान परिषद का सदस्य चुन लिया गया, जो सत्तारूढ़ महाविकास अघाड़ी गठबंधन के लिए एक बड़ी राहत है।

महाराष्ट्र और कर्नाटक सरकारों से अनुमति प्राप्त करने के बाद अभिनेता सोनू सूद ने कोविड-19 महामारी के बीच फंसे हुए प्रवासी श्रमिकों के लिए बस परिवहन की व्यवस्था की है। अभिनेता मजदूरों को अलविदा कहने के लिए बस टर्मिनल भी गए।

उल्लेखनीय है महाराष्ट्र सरकार की ओर से मुंबई के पुलिस उपायुक्त ने कोर्ट को बताया था कि अर्णब गोस्वामी अपनी स्थिति का लाभ उठाते हुए पुलिस को धौंस में ले रहे हैं। वे अपने कार्यक्रमों के जरिए पुलिस को दबाव में लेने का प्रयास कर रहे हैं।

उद्धव ठाकरे ने पीएम मोदी को फोन कर महाराष्ट्र की मौजूदा राजनीतिक स्थिति पर बातचीत की। इस दौरान उद्धव ने कहा कि इस महत्वपूर्ण समय में राज्य में राजनीतिक अस्थिरता बिल्कुल सही नहीं है।

मुंबई पुलिस द्वारा लगातार एक के बाद एक नोटिस भेजे जाने के बाद वरिष्ठ पत्रकार अर्णब गोस्वामी ने पलटवार किया है।

महाराष्ट्र पुलिस पालघर के इस हत्याकांड मामले से जुड़े करीब 300 से ज्यादा आरोपियों की तलाश ड्रोन की मदद से कर रही है।

इस मामले में केंद्रीय गृह मंत्री भी बेहद एक्टिव हो गए हैं। गृहमंत्रालय की तरफ से इस पूरे मामले पर रिपोर्ट मांगी गई है।