महाराष्ट्र

यूसुफ मेमन को साल 2007 में उम्रकैद की सजा सुनाई गई थी। पहले वह मुंबई की ऑर्थर रोड जेल में बंद था। साल 2018 में उसे नासिक की जेल में भेज दिया गया था।

महाराष्ट्र में कोरोना का कहर सबसे ज्यादा देखा जा रहा हैं। इस घातक महामारी से जान गवांने वाले पुलिकर्मियों के परिवारों को सरकार ने तोहफा दिया है। सरकार ने घोषणा की है कि मृतक पुलिसकर्मियों के परिवारों को 65 लाख रुपये आर्थिक सहायता देंगे।

आज के ही दिन शिवसेना की स्थापना स्वर्गीय बाला साहेब ठाकरे ने की थी। कोरोना महामारी की वजह से 54वें स्थापना दिवस को नहीं मनाने का फैसला लिया गया।

भारत में कोरोनावायरस से 380 मौतों और 10,667 नए मामले के साथ एक बार फिर तेजी देखी गई। मंगलवार को केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी किए गए आंकड़ों के मुताबिक मामलों की कुल संख्या 3,43,091 हो गई है।

इसी कड़ी में सत्ताधारी शिवसेना ने अपने मुखपत्र सामना के जरिए गठबंधन की साझीदार कांग्रेस पर तंज कसा है। इतना ही नहीं कांग्रेस के मंत्रियों थोराट और अशोक चव्हाण के हालिया बयानों को लेकर पार्टी पर निशाना साधते हुए कहा है कि पुरानी खाट क्‍यों शोर मचा रही है?

बता दें कि दक्षिण-पश्चिम मानसून ने रविवार को महाराष्ट्र के साथ ही गुजरात और छत्तीसगढ़ के कुछ हिस्सों में दस्तक दे दी है। इसी कारण महाराष्ट्र के जलगांव में रविवार को भारी बारिश हुई। इसके बाद ही अस्पताल के आपातकालीन वार्ड में पानी घुस गया।

सीआर-डब्ल्यूआर के संयुक्त बयान में आगे कहा गया, "लोगों से अनुरोध किया जाता है कि स्टेशनों पर जल्दबाजी न करें और चिकित्सा और सामाजिक प्रोटोकॉल का पालन करें, जैसा कि कोविड-19 के लिए अनिवार्य है।"

हालांकि राहत की बात यह है कि भारत में केसों की संख्या में इजाफे के बीच रिकवरी रेट में भी सुधार हो रहा है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक देश में 1 लाख 62 हजार 378 मरीज यानी 50.59 फीसदी रिकवर हो चुके हैं।

महाराष्ट्र में शिवसेना नीत महाराष्ट्र विकास आघाडी सरकार में तनाव के संकेत दिख रहे हैं, जहां गठबंधन की तीन सहयोगियों में से एक कांग्रेस, प्रमुख निर्णय लेने की प्रक्रिया और महत्वपूर्ण बैठकों में खुद को शामिल कराने का प्रयास कर रही है।

मीडिया से बातचीत में उन्होंने कहा, 'महाराष्ट्र में हर दिन 38 हजार कोरोना टेस्ट की क्षमता है लेकिन सिर्फ 14 हजार टेस्ट हो रहे हैं। मुंबई में ही 12 हजार टेस्ट प्रतिदिन की क्षमता है लेकिन चार हजार टेस्ट प्रतिदिन हो रहे हैं। सरकार कम टेस्ट करके कोरोना के केस कम रखना चाहती है।'