महाराष्ट्र

साधुओं के रिश्तेदारों और जूना अखाड़ा के साधुओं द्वारा सुप्रीम कोर्ट में दाखिल की गई याचिका में कहा गया है कि उन्हें महाराष्ट्र सरकार और पुलिस की जांच पर भरोसा नहीं है। याचिका में आगे कहा गया कि ऐसे में पुलिस से सही तरीके से निष्पक्ष जांच की उम्मीद नहीं है। इसलिए जांच सीबीआई से कराई जाए।

महाराष्ट्र के बुलढाणा जिले में लोनार गड्ढा झील का पानी अचानक लाल हो गया है। इसके कारणों का पता अभी तक पता नहीं चल पाया है। वहीं वन विभाग इस मामले की जांच में जुटा है।

देश में कोरोना का कहर बढ़ता जा रहा है। भारत में इस महामारी से सबसे ज्यादा प्रभावित राज्य महाराष्ट्र है। जहां एक दिन में कोरोना के 2436 नए मामले सामने आए हैं। इस दौरान कोरोना से 139 लोगों की मौत भी हुई है। महाराष्ट्र में कोरोना से एक दिन में मरने वालों की ये सबसे ज्यादा संख्या है।

उन्होंने यह जानना चाहा कि सऊदी अरब सरकार की ओर से 13 मार्च को भेजी गई सूचना के बाद जब हज 2020 पर प्रश्नचिह्न् खड़ा हो गया था, फिर भी हज समिति ने शुल्क संग्रह जारी क्यों रखा।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व मुख्यमंत्री का कोविड -19 परीक्षण पॉजिटिव आया था, लेकिन उनमें कोरोना के लक्षण नहीं थे। 24 मई को उनके गृह स्थान नांदेड़ में और फिर उसके अगले दिन मुंबई के एक निजी अस्पताल में उन्हें स्थानांतरित कर दिया गया था।

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने अपने नवीनतम बुलेटिन में कहा, "पूर्व में उत्तर-पूर्व की ओर जाने और एक अच्छी तरह से चिह्न्ति निम्न दबाव क्षेत्र में कमजोर होकर, वह विदर्भ क्षेत्री की ओर चला गया।"

मिली जानकारी के मुताबिक मुंबई में तूफान निसर्ग 120 की तूफानी स्पीड से दस्तक देने वाला है। उससे पहले ही लगातार बारिश हो रही है। समंदर में तूफान के समय 6 फीट ऊंची लहरें उठ सकती हैं, हालांकि मुंबई समेत पूरा महाराष्ट्र निसर्ग की मुसीबत से निपटने के लिए तैयार है।

आईएमडी के महानिदेशक मृत्युंजय महापात्रा ने कहा कि गंभीर चक्रवाती तूफान तीन जून को जब तट को पार करेगा तब हवा की रफ्तार 90-105 किलामीटर प्रति घंटा होगी।

पश्चिम बंगाल में हाल ही में आए चक्रवाती तूफान अम्फान के बाद देश में एक और चक्रवाती तूफान दस्तक देने वाला है। यह तूफान देश के पश्चिमी छोर पर अरब सागर में बन रहा है।

चक्रवाती तूफान अम्फान की तबाही के बाद एक और तूफान का खतरा मंडराने लगा है। भारतीय मौसम विभाग (आईएमडी) ने सोमवार को कहा कि तीन जून को चक्रवाती तूफान 'निसारगा' महाराष्ट्र के रायगढ़ जिले में हरिहरेश्वर और दमन के बीच उत्तर महाराष्ट्र और दक्षिण गुजरात के तटों को पार करेगा।