महिलाएं

सीता ने तीनों गवाहों द्वारा झूठ बोलने पर उनको क्रोधित होकर श्राप दिया की फल्गु नदी जा तू सिर्फ नाम की रहेगी, तुझमें पानी नहीं रहेगा इसलिए फल्गु नदी गया में आज भी सुखी ही रहती है। गाय को कहा तू पूज्य होकर भी लोगों का झूठा खाएगी और केतकी के फूलों को श्राप दिया कि तुझे पूजा में कभी चढ़ाया नही जाएगा।

सऊदी अरब में महिलाओं को लेकर के काफी कड़े नियम थे पर अब धीरे-धीरे इसमें ढील दी जा रही है। साल 2012 में उन्हें खेलों में भाग लेने का अधिकार मिला। साल 2015 में उन्हें वोट डालने का अधिकार दिया गया।

हम तनाव से बच नहीं सकते हैं, लेकिन तनाव पर कैसे प्रतिक्रिया देनी है, उसे सुधार सकते हैं, और इसका असली असर हमारे दिमाग पर पड़ता है, जब हम मध्य आयु में पहुंच जाते हैं।"

जिसका पीछे का कारण माना जा रहा है कि मानवाधिकार सगंठनों के दबाव से ज्यादा देश के विकास में महिलाओं की जरूरत को महसूस करना।

इसमें टक्कर की गंभीरता नियंत्रण करने के बाद, उम्र, कद, बॉडी मास इंडेक्स और वाहन मॉडल वर्ष आदि कारक शामिल हैं।

जिसके बारे में बहुत कम लोग जानते हैं वह है विभिन्न मनोसामाजिक परिवर्तन, रजोनिवृत्ति के बाद जिनका होना आम है। इसमें शरीर की बनावट को लेकर अधिक सचेत होना, आत्म-विश्वास और कथित वांछनीयता, तनाव, मूड में परिवर्तन और रिश्ते से संबंधित मुद्दे शामिल हैं।

इसका मतलब बेहद साफ है। अब जनधन खाते वाली कोई भी गरीब महिला कभी भी अपने खाते से 5000 रुपये निकाल सकती है। भले ही उसके खाते में पैसे हों या न हों। महिला सशक्तिकरण की बात करने वाली सरकार ने उन्हें ये शानदार तोहफा दिया है।

इसे नए पीढ़ी की जीवनशैली कहें या स्टाइल, लेकिन हर चार में से एक महिला रोमांस और लंबे रिश्ते के इरादे से नहीं, बल्कि केवल मुफ्त के खाने का आनंद लेने के लिए डेट पर जाती हैं।

विधान सभा चुनाव के मद्देनजर केजरीवाल सराकार ने महिलाओं के हित में लिया ये बड़ा फैसला

जो महिलाएं विधवा, तलाकशुदा या कानूनी रूप से अलग हैं, वे भी इन पदों के लिए आवेदन कर सकती हैं। बशर्ते उनके कोई बच्चा न हो। वहीं देश की रक्षा करने के दौरान मरने वाले रक्षा कर्मियों की विधवाएं महिला भी आवेदन करने के लिए योग्य हैं।