मानसून

देश में मानसून आने के साथ ही कई राज्यों में भारी बारिश से बाढ़ भी आ चुकी है। जिसने कई जगहों पर तबाही मचा दी है। इसी बीच देश के कई राज्यों में तेज बारिश के साथ, आंधी-तूफान की खबरें आ रही हैं।

मौसम विज्ञान केंद्र शिमला के डायरेक्टर मनमोहन सिंह ने बताया कि येलो और ऑरेंज अलर्ट हमीरपुर, बिलासपुर, ऊना, कांगड़ा, मंडी, कुल्लू, शिमला, सोलन, सिरमौर और चंबा जिलों के लिए जारी किया गया है।

दिल्ली-एनसीआर के लोगों को गर्मी से राहत मिली है। दिल्ली में सुबह से बादल छाए थे जिसके बाद बरस ही पड़े। इससे दिल्ली वालों को उमस भरी गर्मी से थोड़ी राहत मिली है।

मुलुंड स्थित फोर्टिस अस्पताल की बाल नेत्र रोग विशेषज्ञ डॉ. गिरिजा सुरेश कहती हैं कि हालांकि इन संक्रमणों के पीछे कई कारण हैं, जिनमें बैक्टीरिया या वायरल संक्रमण जैसे सामान्य सर्दी, फ्लू या यहां तक कि आंखों को बार-बार रगड़ना भी शामिल हैं।

उत्तर भारत के कई राज्यों में गुरुवार को मध्यम बारिश हुई। एक तरफ हिमाचल, अरुणाचल प्रदेश और असम जैसे इलाकों में मूसलाधार बारिश से बाढ़ जैसे हालत हो रहे हैं। वहीं दिल्ली उमस से बेहाल हो रही है और लोग बारिश को तरस रहे हैं।

गुजरात में मानसून अपने रंग में है। रविवार को कई जिलों में भारी बारिश हुई। देवभूमि द्वारका जिले के खाम्भालिया तहसील में दिन में 434 मिलीमीटर बारिश हुई।

बिहार में गुरुवार को एकबार फिर आकाशीय बिजली (वज्रपात) गिरने से 22 लोगों की मौत हो गई।

दिल्ली-एनसीआर में उमस का सिलसिला जारी है। वहीं कुछ राज्यों में आज तेज बारिश के आसार हैं जिससे भीषण गर्मी से लोगों को राहत मिलेगी। आईएमडी के मुताबिक पूर्वोत्तर भारत और पूर्वी भारत में अगले पांच दिनों तक व्यापक बारिश होने की संभावना है।

दक्षिण-पश्चिम मानसून पूरे देश में पहुंच गया है, जो निर्धारित तिथि से पहले हुआ है। भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने शुक्रवार को यह जानकारी दी।

बिहार में गुरुवार को अलग-अलग जिलों में ठनका (आकाशीय बिजली) गिरने से बच्चे, महिलाओं समेत 39 लोगों की मौत हो गई। मृतकों का आंकड़ा और भी बढ़ सकता है।