मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल

दिल्ली (Delhi) के स्वास्थ्य विभाग एवं विशेषज्ञों के मुताबिक अनलॉक (Unlock) प्रक्रिया के बाद बाहर से रोजी-रोटी की तलाश में दिल्ली आ रहे लोगों और टेस्ट कराने में लापरवाही की वजह से दिल्ली में कोरोनावायरस (Coronavirus) के मामलों में इजाफा हुआ है।

जीएसटी काउंसिल की बैठक (GST Council Meeting) में केंद्र सरकार के राज्यों को दिए गए विकल्पों पर विचार करने के बाद दिल्ली सरकार (Delhi Government) ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) को एक पत्र लिखा है।

केंद्रीय गृह मंत्रालय (Ministry of Home Affairs) ने शनिवार को अनलॉक-4 (Unlock-4) की गाइडलाइन जारी कर दिया गया है। अनलॉक-4 में मेट्रो सेवा बहाल करने की इजाजत दे दी गई है।

दिल्ली (Delhi) में बीते कुछ दिनों से लगातार कोरोना (Coronavirus) पॉजिटिव मामलों की संख्या में इजाफा हो रहा है। बीते 24 घंटे के दौरान ही दिल्ली में 1693 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए।

दिल्ली (Delhi) के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (CM Arvind Kejriwal) ने कोरोना (Coronavirus) संक्रमण से जान गंवाने वाले एमसीडी के सफाई कर्मचारी राजू के परिवार से मुलाकात की और उन्हें एक करोड़ रुपये की सहायता राशी का चेक सौंपा।

अंबेडकर अस्पताल का उद्घाटन करते हुए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा, "दिल्ली में कोरोना की स्थिति काफी नियंत्रण में है। दिल्ली में सभी पैरामीटर्स अच्छे हो रहे हैं। पॉजिटिविटी औसत और मौतें भी कम हो रही हैं। अंबेडकर अस्पताल में शुरू कोविड समर्पित 200 बेड दिल्ली की स्वास्थ्य बुनियादी ढांचे को और मजबूत करने में बहुत बड़ा कदम है।"

दिल्ली में स्टार्टअप की नई नीति के लिए परामर्श प्रक्रिया को शुरू की गई है। स्टार्टअप के लिए दिल्ली को एक अग्रणी विकल्प के रूप में विकसित किया जाएगा।

दिल्ली में मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल के सिविल लाइंस स्थित आवास की छत का एक हिस्‍सा गिर गया। गनीमत रही कि उस वक्‍त वहां कोई मौजूद नहीं था।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा दिल्ली कैबिनेट ने डीजल पर लगने वाली वैट की दरों को 30 प्रतिशत से घटाकर 16.75 प्रतिशत करने का निर्णय लिया है। इस निर्णय से दिल्ली में डीजल की कीमत घटकर 73.64 रुपये हो जाएगी। डीजल 8.36 रुपये सस्ता होगा।

दिल्ली सरकार रेहड़ी-पटरी, फेरीवालों और हॉकर्स को व्यवसायों को फिर से शुरू करने की अनुमति देगी। कोरोना महामारी और इसके क्रमिक लॉकडाउन के चलते बड़े पैमाने पर छोटे स्तर के व्यवसाय प्रभावित हुए हैं, जिसमें रेहड़ी पटरी विक्रेता सबसे अधिक प्रभावित समूहों में से एक थे।