मुरादाबाद

वहीं इस ट्वीट के बाद बॉलीवुड गीतकार जावेद अख्तर सोशल मीडिया पर ट्रोल हो गए। लोगों ने उनके पर प्रतिक्रिया देते हुए उनकी जमकर खिचाई कर डाली। एक यूजर ने जावेद अख्तर को ट्रोल करते हुए लिखा कि, ‘अब इसके लिए फतवा निकालने को नहीं बोलोगे।’ 

मेडिकल टीम जब उस इलाके में पहुंची तो उन पर हमला कर दिया गया। जिसमें एंबुलेंस कर्मियों के साथ डॉक्टर और मेडिकल स्टाफ घायल हैं। एंबुलेंस ड्राइवर का कहना है कि कुछ लोगों ने मेडिकल टीम और पुलिस पर पथराव किया, जो संभावित रूप से संक्रमित को लेने के लिए गए थे।

दरअसल कोरोना की जांच करने मुरादाबाद जिले के नागफनी थाने के हाजी नेब की मस्जिद इलाके में गई मेडिकल टीम पर हमला कर दिया गया।

प्रशासन के अनुसार प्रदर्शन के दौरान रोजाना कानून-व्यवस्था पर खर्च हो रहा है। मुरादाबाद के अपर नगर मजिस्ट्रेट प्रथम ने अब तक 144 लोगों को इस तरह का नोटिस जारी किया है।

उत्तर रेलवे के प्रवक्ता ने कहा कि कोच संख्या पांच और आठ बेपटरी हो गए और शुरुआती जानकारी के अनुसार कोई हताहत नहीं हुआ है। उन्होंने कहा कि मौके पर एक मेडिकल ट्रेन पहुंच गई है।

पुलिस के मुताबिक, मुरादाबाद के कटघर थाना क्षेत्र के शिवपुरी निवासी प्रमोद शर्मा इंडिया फैशन एंड ब्यूटी अवार्ड नामक इवेंट कंपनी चलाते हैं। दिल्ली के सीरी फोर्ट ऑडिटोरियम में एक इवेंट के लिए उन्होंने फिल्म अभिनेत्री सोनाक्षी सिन्हा के मैनेजर के माध्यम से अनुबंध किया था।

ये वाकया उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद के पीपलसाना गांव का है। यहां 3 मुस्लिम हज्जामों के खिलाफ दलितों से भेदभाव की एफआईआर दर्ज की गई है। जब दलितों ने इनसे बाल काटने व दाढ़ी बनाने को कहा तो इन्होंने साफ इंकार कर दिया।

जायरा के समर्थन में उतरे सपा सांसद एसटी हसन ने फिल्म अभिनेत्रियों को भी नहीं बख्शा। उन्होंने कहा कि क्योंकि जो लोग नाचते-गाने के पेशे में हैं, पहले उन्हें तवायफ ही कहा जाता था।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अलीगढ़ में जनसभा के बाद मुरादाबाद में रैली के दौरान पाकिस्तान को चेतावनी दी। पीएम मोदी ने पाकिस्तान को अल्टिमेटम देते हुए कहा कि अब उधरवालों को समझ आ गया है कि तीसरी गलती करने की हिम्मत की तो लेने के देने पड़ जाएंगे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जनसभा के दौरान कहा, 'दुनिया में उसी की बात सुनी जाती है, जिसमें दम होता है।

उत्तर प्रदेश की मुरादाबाद सीट पर कांग्रेस ने इस बार शायर इमरान प्रतापगढ़ी को मैदान में उतारा है। यह सीट पहले रॉबर्ट वाड्रा के सियासी आगाज की अटकलों को लेकर सुर्खियों में थी, बाद में राज बब्बर ने भी इस सीट से चुनाव लड़ने से मना कर दिया था। तो वहीं, पिछले चुनाव में यहां से कांग्रेस को 20 हजार वोट भी नहीं मिले थे और वह पांचवें नंबर की पार्टी थी।