मुस्लिम पक्ष

मुस्लिम पक्ष के वकील जफरयाब जिलानी ने कहा कि हम कोर्ट के फैसले का सम्मान करते हैं, लेकिन फैसले में कई विरोधाभास है, लिहाजा हम फैसले से संतुष्ट नहीं है।

भाजपा नेता अभिषेक दुबे ने पार्लियामेंट स्ट्रीट थाने में शिकायत दर्ज कराई है और उन्होंने अपनी शिकायत में कहा है कि, राजीव धवन द्वारा नक्शा फाड़ने से देश में अराजकता फैलाने और धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने का काम किया गया है।

सुप्रीम कोर्ट में अयोध्या मामले की सुनवाई बेहद दिलचस्प मोड़ पर पहुंच गई है। मुस्लिम पक्ष ने बहस करते हुए 134 साल पुराने कोर्ट के फैसले का जिक्र किया। मुस्लिम पक्ष ने उस फैसले के हवाले से यह भी कहा कि अब हिंदुओं का इस पर कोई अधिकार नहीं बनता है।

ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने अयोध्या मामले में फैसले से पहले लखनऊ मेंं एक बैठक की। इस बैठक में बोर्ड की ओर से मुकदमा लड़ने वाले सभी वकीलों का धन्यवाद किया गया।

पहले इस मामले पर बहस 18 अक्टूबर तक खत्म करने की बात थी। अब सुप्रीम कोर्ट ने एक दिन कम करके आखिरी तारीख 17 अक्टूबर तय की है।

लड़ाई का बड़ा मसला वकीलों की फीस है। जमीयत दावा कर रही है कि अयोध्या मामले में वकीलों की फीस वही दे रही है। सारे कानूनी खर्चे भी उसी के हैं। मगर ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने इसे सिरे से खारिज कर दिया है।