मेरठ

उत्तर प्रदेश के मेरठ में मां-बेटी की हत्या करने के बाद पुलिस कस्टडी से भागने वाले आरोपी शमशाद को पुलिस ने मुठभेड़ में धर दबोचा है।गुरुवार को पुलिस ने एनकाउंटर के बाद शमशाद को गिरफ्तार कर लिया है।

अरशद अली ने पंजाब में RSS नेता की हत्या के मामले में हथियार सप्लाई किए थे। बुलंदशहर में अरशद पर आधा दर्जन से ज्यादा मुकदमे दर्ज हैं।

पुलिस की जांच में पता चला कि मेरठ के शाकिब ने लुधियाना में अपना नाम बदकर अमन कर लिया था। वह मई 2019 में छात्रा को लेकर लुधियाना से फरार हो गया।

लोगों की माने तो मेरठ के थाना लिसाड़ी गेट क्षेत्र के कमेला रोड का है। जहां बुजुर्ग की मौत होने के बाद उसके शव को ले जाने के लिए जब लोग आगे नहीं आए तो परिजनों ने ठेले में शव को रखवाया जिसके बाद उसे दफनाने के लिए कब्रिस्तान की तरफ रवाना हुए।

मेरठ के लाला जी लाजपत राय स्मारक चिकित्सा महाविद्यालय के प्रचार्य आरसी गुप्ता ने बताया, "मृतक मेरठ के पहले संक्रमित मरीज इकरामुल हसन के ससुर थे। मृतक की उम्र 72 साल थी। वह 29 मार्च को एडमिट हुए थे।"

लॉकडाउन के बीच यूपी के मेरठ प्रशासन ने एक बड़ा फैसला लिया है। इस फैसले के तहत मेरठ जिले में 25 मई तक धारा 144 लागू कर दी गई है।

इसके चलते गाजियाबाद, मेरठ, सहारनपुर, मुजफ्फरनगर, शामली, हापुड़, बिजनौर, बागपत, वाराणसी, भदोही, मथुरा, आगरा, सीतापुर, बाराबंकी, प्रयागराज, बहराइच, गोंडा और बलरामपुर जिलों में खासी सतर्कता बरती जा रही है।

उत्तर प्रदेश के मेरठ जिले में 20 दिसंबर को जबरदस्त उपद्रव और हिंसा हुई थी। इस दौरान हुए उपद्रव में पुलिस प्रशासन पर ताबड़तोड़ गोलियां चलाई गई थी।

मेरठ के सिटी एसपी के बयान पर अब भाजपा भी सख्त होने लगी है। एसपी के बयान की चौतरफा निंदा होते देख अब भाजपा नेता भी उसकी निंदा करने लगे हैं। भाजपा नेता और केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने सिटी एसपी के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है।

मेरठ में 20 दिसम्बर शुक्रवार को जुमे की नमाज के बाद एनआरसी के विरोध को लेकर बवाल हो गया था। इसी दौरान मेरठ के एसपी सिटी अखिलेश नारायण उपद्रव करने वालों पर आग बबूला हो गए थे।