मौलाना मोहम्मद साद

सूत्र ने आगे कहा कि साद ने पुलिस को उसके खिलाफ दर्ज एफआईआर की प्रति साझा करने को कहा है और साथ ही कहा है कि अगर एफआईआर में कोई नया खंड (सेक्शन) जोड़ा गया है तो उसे इसके बारे में सूचित करें।

तबलीगी जमात के आयोजक मौलाना मोहम्मद साद का एक ऑडियो वायरल हो रहा है। जिसमें वह कोरोना का जिक्र करते हुए कहते हैं कि मरने के लिए मस्जिद से अच्छी जगह नहीं हो सकती। इससे साफ है कि उन्हें पहले से पता था कि ऐसे जुटने से कोरोना का खतरा है। वायरल ऑडियो में मौलाना साद कई बातें कहते सुनाई दे रहे।

मौलाना साद के इस कथित ऑडियो क्लिप में कुछ लोग उनकी 'हां में हां' मिला रहे हैं। आईएएनएस इस ऑडियो क्लिप की सत्यता प्रमाणित नहीं कर रहा है। हालांकि फरार चल रहे मो. साद कंधावली के करीबी ऑडियो में उन्हीं की आवाज मान रहे हैं।

दरअसल तबलीगी जमात के आयोजक मौलाना मोहम्मद साद का एक ऑडियो वायरल हो रहा है। जिसमें वह कोरोना का जिक्र करते हुए कहते हैं कि मरने के लिए मस्जिद से अच्छी जगह नहीं हो सकती। इससे साफ है कि उन्हें पहले से पता था कि ऐसे जुटने से कोरोना का खतरा है। वायरल ऑडियो में मौलाना साद कई बातें कहते सुनाई दे रहे।