यूपीए

झारखंड में राज्यसभा चुनाव को लेकर राजनीतिक सरगर्मी तेज हो गयी हैं। दो सीटों को लेकर 19 जून को होने वाले चुनाव में यूपीए-एनडीए दोनों अपने-अपने वोटरों की घेराबंदी में जुटे हैं। इसी बीच मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के आवास पर यूपीए विधायक दल की बैठक 17 जून को बुलायी गयी है।

कांग्रेस और असदुद्दीन ओवैसी समेत कई दल मोदी सरकार पर आरोप लगा रहे हैं कि वो एनपीआर के जरिए पिछले दरवाजे से एनआरसी लागू करना चाह रही है।

लोकसभा में सोमवार को नागरिक संशोधन बिल आसानी से पास हो चुका है। अब बुधवार को यह बिल राज्यसभा में पेश होगा। गृहमंत्री अमित शाह आज दोपहर 2 बजे संशोधन बिल राज्यसभा में पेश करेंगे। राज्यसभा में इस बिल पर चर्चा की खातिर 6 घंटे का समय तय किया गया है।

अमेरिकी प्रतिनिधि सभा की विदेश मामलों की स्थायी समिति ने भारत के उस नागरिकता संशोधन विधेयक (सीएबी) से खुलकर असहमति जताई है, जिसमें पाकिस्तान और बांग्लादेश जैसे देशों के गैर-मुस्लिम अल्पसंख्यकों को भारतीय नागरिकता देने का प्रावधान है।

सिटीजनशिप अमेंडमेंट बिल या नागरिकता संशोधन विधेयक का राज्यसभा में भारी बहुमत से पास होना तय है। सरकार ने इसलिए पूरी तैयारी कर रखी है। पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश के गैरमुस्लिम शरणार्थियों के लिए भारत में नागरिकता का रास्ता साफ करने वाले नागरिकता संशोधन विधेयक पर अब राज्यसभा में सरकार ने पूरी तैयारी कर ली है।

आपको जानकर आश्चर्य होगा कि इस मांग को 2003 में तब विपक्ष के नेता मनमोहन सिंह ने राज्यसभा में उठाया था। वही कांग्रेस जो अभी सरकार के द्वारा लाए इस बिल का विरोध कर रही है वह अटल बिहारी वाजपेयी सरकार के समय संसद में खड़े होकर इस बात के लिए सरकार को तैयार करने के लिए दवाब बनाने की कोशिश कर रही थी।

INX मीडिया केस में दिल्ली हाई कोर्ट से अग्रिम जमानत याचिका खारिज होने के बाद CBI और ED की टीम चिदंबरम को गिरफ्तार करने जब उनके घर पहुंची तो वो घर पर नहीं मिले।

तीसरी बार लोकसभा में पेश किया गया तीन तलाक बिल एक बार फिर से पास हो गया है। कांग्रेस समेत डीएमके, एनसीपी और कई विपक्षी पार्टियों ने इस बिल का विरोध जरुर किया। लेकिन फिर भी इस बिल को पास कर दिया गया।

सूत्रों ने बताया कि कांग्रेस को अपोजिशन बेंच की पहली लाइन में दो सीटें मिली हैं। वहीं, इसकी सहयोगी और दूसरी बड़ी विपक्षी पार्टी डीएमके को कांग्रेसी नेताओं के बगल में एक सीट मिली है।

बता दें कि 17 वीं लोकसभा के लिए एनडीए गठबंधन कुल 353 सीटें जीतने में सफल रहा है। भाजपा ने इस बार के चुनाव में अपने दम पर 300 के आंकड़े को हासिल किया है। भाजपा के खाते में अपने दमपर 303 सीटें हासिल की हैं। कांग्रेस की बात करें तो पार्टी ने 52 सीटें जीती हैं। यूपीए के हिस्से में कांग्रेस को मिलाकर 85 सीटें मिली हैं।