राजघाट

दो दिनों के दौरे के लिए अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप अपने परिवार के साथ भारत आए हुए हैं। वो 24 फरवरी को गुजरात के अहमदाबाद एयरपोर्ट पहुंचे थे।

भारत दौरे पर आने वाले राष्ट्राध्यक्ष एवं गणमान्य विदेशी मेहमान अक्सर राजघाट जाकर सत्य अहिंसा के प्रबल पुजारी एवं विश्व बंधुत्व के मसीहा महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि अर्पित करने के लिए राजघाट जाते हैं।

दिल्ली की जामिया मिलिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी से राजघाट तक मार्च के दौरान एक युवक द्वारा गोली चलाने की घटना के बाद देश के गृह मंत्री अमित शाह ने बड़ा बयान दिया है।

देशभर में गुरुवार को राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की पुण्यतिथि मनाई जा रही है। इस अवसर पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, उप राष्ट्रपति वेंकैया नायडू, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, पूर्व प्रधानमंत्री डॉक्टर मनमोहन सिंह, पूर्व केंद्रीय मंत्री पी चिदंबरम और कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने राजघाट जाकर बापू को श्रद्धांजलि दी।

नई दिल्ली। नागरिकता कानून को लेकर देशभर में हो रहे विरोध के बीच कांग्रेस की तरफ से भी दिल्ली में...

राजघाट पर सोनिया गांधी व राहुल गांधी के साथ कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा, पूर्व पीएम मनमोहन सिंह, वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आज़ाद, मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ, राज्यसभा सांसद अहमद पटेल और आनंद शर्मा नागरिकता संशोधन कानून आंदोलन और NRC के विरोध में प्रदर्शन करते दिखाई दिए।

राजघाट पर सोनिया गांधी व राहुल गांधी के साथ कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा,  पूर्व पीएम मनमोहन सिंह, वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आज़ाद, मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ, राज्यसभा सांसद अहमद पटेल और आनंद शर्मा नागरिकता संशोधन कानून आंदोलन और NRC के विरोध में प्रदर्शन करते दिखाई दिए।

दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल की अगुवाई में यह कैंडल मार्च निकाला गया। बता दें कि स्वाति मालीवाल राजघाट पर आमरण अनशन पर बैठी थीं। आज वो राजघाट से इंडिया गेट के लिए कैंडल मार्च पर निकली।

महात्मा गांधी की 150वीं जयंती के मौके पर आज कांग्रेस पार्टी देश के कई हिस्सों में पदयात्रा निकाल रही है। पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी, राहुल गांधी, प्रियंका गांधी इस यात्रा की अगुवाई कर रहे हैं। दिल्ली में यह पदयात्रा कांग्रेस दफ्तर से राजघाट तक निकाली गई।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को महात्मा गांधी की 150वीं जयंती पर यहां राज घाट पर राष्ट्रपिता को श्रद्धांजलि अर्पित की। वह राज घाट पर कुछ समय के लिए रुके और वहां सर्व-धर्म प्रार्थना सभा आयोजित की गई।