राजनाथ सिंह

केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने गुरुवार को गुवाहाटी में हुए विस्फोट के बारे में असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल से फोन पर बात की और स्थिति का जायजा लिया।

अर्थव्यवस्था के बारे में राजनाथ सिंह ने कहा कि चुनावों के दौरान मुद्रास्फीति मुख्य चुनाव मुद्दा रहता था, लेकिन 2004 और 2019 के चुनाव के दौरान यह मुद्दा नहीं है, क्योंकि दोनों भाजपा प्रधानमंत्रियों (अटल बिहारी वाजपेयी और नरेंद्र मोदी) के प्रबंधन ने कीमतों को बढ़ने नहीं दिया।

राजनाथ ने ट्वीट में कहा, "कानून-व्यवस्था किसी राज्य सरकार और उसके मुख्यमंत्री की प्राथमिक जिम्मेदारी है। पश्चिम बंगाल सरकार ओर मुख्यमंत्री को मौजूदा हालात की जिम्मेदारी लेनी चाहिए।"

केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने मंगलवार को कहा कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) इस लोकसभा चुनाव में 2014 से भी ज्यादा सीटें जीतेगी और राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) को दो-तिहाई बहुमत प्राप्त होगा।

पांचवें चरण के चुनाव पर सबकी निगाहें इसलिए हैं क्योंकि इसमें राजनाथ सिंह, सोनिया गांधी, राहुल गांधी, साध्वी निरंजन ज्योति, स्मृति ईरानी, जितिन प्रसाद, निर्मल खत्री और ब्रजभूषण शरण सिंह जैसे दिग्गजों का सियासी भविष्य तय होगा।

पिता राजनाथ के प्रचार की कमान संभाल रहे पंकज ने अपनी प्रचार रणनीति के बारे में कहा, "चुनाव प्रचार में डिजिटल और परंपरागत दोनों माध्यमों का इस्तेमाल हो रहा है। परंपरागत माध्यम प्रचार का ज्यादा अच्छा माध्यम है।

बता दें कि लखनऊ में लोकसभा चुनाव छह मई को (पांचवे चरण) में होगा। इस बार लखनऊ से सपा ने शत्रुघ्न सिन्हा की पत्नी पूनम सिन्हा और कांग्रेस ने आचार्य प्रमोद कृष्णम को मैदान में उतारा है।

केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह लखनऊ से और मोहनलालगंज से भाजपा अनुसूचित मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष कौशल किशोर आज अपना नामांकन दाखिल करेंगे। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ. महेंद्रनाथ पांडेय व दोनों उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा और केशव प्रसाद मौर्य व प्रदेश सरकार के कई मंत्री इस दौरान मौजूद रहेंगे।

केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने मंगलवार को कहा कि भारतीय जनता पार्टी ने 2014 में लोकसभा चुनाव के प्रचार के दौरान कभी भी लोगों के बैंक खातों में 15 लाख रुपये ट्रांसफर करने का वादा नहीं किया था। राजनाथ सिंह ने समाचार एजेंसी 'एनएनआई' को दिए इंटरव्यू में कहा, 'बिल्कुल नहीं कहा था कि 15 लाख रुपए आएंगे, ये कभी नहीं कहा था।'

लोकसभा चुनाव से पहले भाजपा की तरफ से 48 पन्नों का संकल्प पत्र जारी किया गया। इस मौके पर पीएम मोदी, भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह और गृहमंत्री राजनाथ सिंह, और कई बड़े नेता मौजूद रहे।