राजनाथ सिंह

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने शनिवार को मुंबई के माजागोन डॉक्स में एक समारोह में भारत की दूसरी स्कॉर्पियन क्लास युद्धक पनडुब्बी आईएनएस खंडेरी को भारतीय नौसेना में शामिल कर लिया।

इस मौके पर रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने एक बार फिर पाकिस्तान को कड़ी चेतावनी देते हुए कहा कि कुछ ऐसी ताकतें हैं जो भारत के तटीय क्षेत्र में मुंबई जैसे हमले दोबारा करना चाहती हैं लेकिन उनके मंसूबे पूरे नहीं होने दिए जाएंगे।

बता दें कि आईएनएस खंडेरी को भारत में ही तैयार किया गया है और यह कलवरी सीरीज की दूसरी स्कॉर्पिन सबमरीन है। इसमें एक हजार से ज्यादा छोटी-बड़ी मशीनें लगी हैं। ये दुश्मन के जहाज को 300 किमी को दूर से ढेर करने की ताकत रखती है।

उन्होंने कहा कि हमारे तटीय और समुद्री सुरक्षा बल इस आशंका के मद्देनजर पूरी सतर्कता बरत रहे हैं। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि मैं आप लोगों को भरोसा दिलाना चाहता हूं कि हमारी नौसेना ऐसे किसी भी खतरे से निपटने में पूरी तरह सक्षम है।

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने बुधवार को इंडियन कोस्ट गार्ड शिप (आईसीजीएस) 'वराह' को अपने दो दिवसीय दौरे के समापन पर चेन्नई में इंडियन कोस्ट गार्ड में शामिल किया।

सिंह यहां तटरक्षक बल के गश्ती जहाज 'वराह' को शुरू करने पहुंचे थे। सेनाध्यक्ष बिपिन रावत ने सोमवार को कहा था कि पाकिस्तान ने बालाकोट में अपने आतंकी शिविरों को फिर से सक्रिय कर दिया है।

भारतीय पायलटों के छोटे बैचों को फ्रांसीसी वायु सेना के विमानों के लिए प्रशिक्षित कर दिया गया है। भारतीय वायु सेना मई 2020 तक तीन अलग-अलग बैचों में 24 पायलटों को प्रशिक्षित करेगी ताकि भारतीय राफेल लड़ाकू जेट को उड़ाया जा सके।

भारत में तैयार किए गए लड़ाकू विमान तेजस में उड़ान भरेंगे रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह। 19 सितंबर को रक्षा मंत्री इस लड़ाकू विमान की सवारी करेंगे जिसकी शुरुआत बेंगलुरु से होगी।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 69वें जन्मदिन पर उन्हें देशभर से बधाइयों का सिलसिला जारी है। सोशल मीडिया पर पीएम मोदी का बर्थडे ट्रेंड कर रहा है। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह से लेकर तमाम केंद्रीय मंत्री, भाजपा नेता-कार्यकर्ता और विपक्षी दलों के नेताओं ने पीएम को बधाई दी है।

कश्मीर से 370 हटाने के बाद पाकिस्तान की बौखलाहट पर राजनाथ सिंह ने कहा कि पाकिस्तान कश्मीर से 370 हटाने के भारत के फैसले को पचा नहीं पा रहा है और वह गुमराह करने के लिए इस मसले को यूएन तक ले गया था।