राजस्थान

मध्य प्रदेश को शिवपुरी ज़िले से शर्मसार करने वाली फिर एक तस्वीर सामने आयी है। प्रवासी मज़दूरों के साथ पहले राजस्थान सरकार ने संगदिली दिखाई।

आदेशानुसार, सार्वजनिक स्थानों पर थूकना आगे आने वाले समय में भी एक दंडनीय अपराध बना रहेगा। लॉकडाउन 4.0 के दिशा-निर्देशों को संशोधित करते हुए राज्य सरकार ने रेड जोन में सोशल डिस्टेंसिंग और स्वच्छता को सुनिश्चित करते हुए टैक्सी, ऑटो व कैब सेवाओं को संचालित करने की अनुमति दे दी है।

भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने रविवार को कहा कि अगले पांच दिनों के दौरान राजस्थान, दिल्ली, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश और तेलंगाना के कुछ हिस्से भीषण लू की चपेट में होंगे।

राजस्थान के चुरू जिले में एक थाना प्रभारी (एसएचओ) ने अपने सरकारी क्वार्टर में कथित तौर पर आत्महत्या कर ली है।

लॉकडाउन के चलते कोटा राजस्थान में करीब 12,000 छात्र लाकडाउन में फंसे थे, जिन्हें सकुशल घर पहुंचाने के लिए योगी सरकार ने मुफ्त बसें चलाई थी

उत्तर प्रदेश के बस पॉलिटिक्स का मामला अभी पूरी तरह शांत भी नहीं हुआ था कि राजस्थान की कांग्रेस सरकार ने यूपी सरकार को 36.36 लाख रुपये का बिल भेजकर नया विवाद खड़ा कर दिया है।

राजस्थान में कोरोना वायरस संक्रमण से तीन और लोगों की मौत होने के मामले बृहस्पतिवार को सामने आए, जिससे राज्य में इस घातक वायरस से मरने वालों की संख्या बढ़कर 150 हो गयी है।

रेस्तरां को पहले संचालित करने की अनुमति थी, लेकिन केवल होम डिलीवरी की शर्त के साथ। अब इसमें इस सुविधा को जोड़ दिया गया है कि कोई भी भोजन पैक करके घर ले जा सकेगा लेकिन रेस्तरां के अंदर बैठकर भोजन करना निषिद्ध रहेगा। इसी तरह का नियम मिठाई की दुकानों पर भी लागू होगा।

राजस्थान के टोंक जिले के मालपुरा केस पर विपक्ष ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के खिलाफ ट्विटर पर जंग छेड़ दी है।

कोरोनावायरस को फैलने से रोकने के लिए पूरे देश में पिछले 50 दिनों से लॉकडाउन है। सरकार लगातार लोगों से घर में रहने का आग्रह करती आ रही है। सिर्फ बहुत जरूर काम के लिए ही घर से बाहर निकलने की सलाह दी है। लेकिन इसी बीच चिकित्सा सेवाएं या किसी दूसरे जरूरी सेवा के लिए ई-पास बनवाकर बाहर जा सकते हैं।