राजस्थान

कांग्रेस (congress) पार्टी का राजस्थान (Rajasthan) में चल रहा राजनीतिक संकट अब खत्म होता नजर आ रहा है।

विधानसभा में भाजपा (BJP) के नेता गुलाब चंद कटारिया (Gulab Chand Kataria ) ने कहा कि अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) की सरकार हार चुकी है। विधायक दल की बैठक में 71 विधायक शामिल थे।

गौरतलब है कि कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और महासचिव प्रियंका गांधी के साथ सोमवार को पायलट की मुलाकात के बाद राजस्थान का सियासी संकट खत्म हो गया। पायलट और उनके समर्थक विधायकों के मुद्दों के समाधान के लिए पार्टी ने तीन सदस्यीय समिति गठित करने का फैसला किया।

सचिन पायलट और उनके खेमे के कांग्रेस विधायकों के बागी तेवरों से उत्पन्न संकट का समाधान होने के बाद, राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने मंगलवार को कहा कि वह उनकी शिकायतों को जानने और उनका दिल जीतने की कोशिश करेंगे।

सूत्रों का कहना है कि कांग्रेस ने पायलट को आश्वासन दिया है कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और राज्य की राजनीति के बारे में उनकी शिकायतों का संज्ञान लिया जाएगा।

पार्टी महासचिव (संगठन) के. सी. वेणुगोपाल ने एक बयान में कहा, "इस बैठक के बाद कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने फैसला किया है कि अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी पायलट एवं अन्य नाराज विधायकों की ओर से उठाए गए मुद्दों के निदान एवं उचित समाधान तक पहुंचने के लिए तीन सदस्यीय समिति का गठन करेगी।"

कांग्रेस के लिए राहत की बात यह है कि सचिन पायलट अपनी नाराजगी भूलकर फिर से पार्टी में वापस आएंगे। वैसे भी पायलट ने स्पष्ट कर दिया था कि वह भाजपा में शामिल नहीं होंगे और पार्टी में रहकर ही अपनी आवाज उठाएंगे।

कांग्रेस के कुछ बागी और भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के कुछ नेताओं पर सरकार को अस्थिर करने की कोशिश का आरोप है। गहलोत ने चिट्ठी में लिखा, चुनी हुई सरकार को अस्थिर करना किसी भी दृष्टिकोण से न्यायोचित नहीं है।

राजस्थान के जोधपुर से बड़ी खबर सामने आ रही है। जोधपुर जिले के देचू थाना इलाके में पाकिस्तान के 11 विस्थापितों के शव मिले हैं। यह शव लोड़ता गांव के एक खेत में बने कमरे से मिले हैं।

राजस्थान के भाजपा विधायक निर्मल कुमावत ने कहा कि हमारे साथ और भी विधायक जुड़ेंगे। कुमावत ने आरोप लगाते हुए कहा कि राजस्थान में कांग्रेस सरकार हमें उनके पक्ष में मतदान करने के लिए दबाव डाल रही है। इसलिए हम अगले 2 दिनों तक यहां रहेंगे।