राजस्थान

राजस्थान के टोंक जिले के मालपुरा केस पर विपक्ष ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के खिलाफ ट्विटर पर जंग छेड़ दी है।

कोरोनावायरस को फैलने से रोकने के लिए पूरे देश में पिछले 50 दिनों से लॉकडाउन है। सरकार लगातार लोगों से घर में रहने का आग्रह करती आ रही है। सिर्फ बहुत जरूर काम के लिए ही घर से बाहर निकलने की सलाह दी है। लेकिन इसी बीच चिकित्सा सेवाएं या किसी दूसरे जरूरी सेवा के लिए ई-पास बनवाकर बाहर जा सकते हैं।

लॉकडाउन को 17 मई तक बढ़ाने के साथ ही केंद्र सरकार ने कई आर्थिक गतिविधियों में छूट का ऐलान किया है। हालांकि कुछ सेवाओं पर पाबंदी पहले की तरह ही जारी रहेंगी।

राजस्थान के कोटा से 540 छात्र दिल्ली पहुंच गये हैं। 40 बसों में सवार ये छात्र सुबह 5 बजे दिल्ली के कश्मीरी गेट बस अड्डे पर पहुंचे। सभी छात्रों का मेडिकल परीक्षण कर उनको अपने अपने घरों को भेज दिया गया है।

राजस्थान में अब महामारी के समय सार्वजनिक कार्यक्रम करने, थूंकने, जानबूझकर महामारी को फैलाने में सहयोग करने, चिकित्सकों एवं पुलिसकर्मियों के साथ अभद्रव्यवहार करने वालों के खिलाफ कार्रवाई का प्रावधान किया गया है।

फंसे लोगों को लेकर जयपुर से चली स्पेशल ट्रेन शनिवार को दोपहर पटना के दानापुर रेलवे स्टेशन पहुंची। इस ट्रेन में करीब 1200 मजदूर सवार थे।

सीकर के एक प्राथमिक स्कूल में गुजरात मध्य प्रदेश इत्यादि जगहों से आए मजदूरों को क्वारंटाइन में रखा गया था। इन मजदूरों ने क्वारंटाइन से भगाने की जगह अपना हुनर दिखाया है। जिस स्कूल में ये मजदुर रुकें है इन्होने वहां की तस्वीर बदल दी।

एंटीबॉडी रैपिड किट से टेस्टिंग की शुरुआत करने वाला राजस्थान पहला राज्य है। राजस्थान में सोमवार को तीसरे दिन भी रैपिड किट के जरिए 2000 लोगों का टेस्ट किया गया था, इसमें एक परिवार के 5 लोग पॉजिटिव मिले थे। पर अब किट की विश्वसनीयता पर सवाल खड़े हो गए हैं।

कोरोना के बीच पुलिस योद्धा बनकर मैदान में डटी हुई है। ऐसे ही एक योद्धा है प्रदेश के पुलिस विभाग में सब इंस्पेक्टर सुंदरलाल। 15 दिनों से उनकी ड्यूटी जयपुर में प्रताप नगर स्थित आरयूएचएस के क्वारंटाइन सेंटर में लगी है।

कोरोना के बीच राजस्थान सरकार ने नए दिशानिर्देश जारी किए हैं। ये निर्देश कामकाजों के परिचालन को लेकर बनाये गए हैं।