राजीव गांधी

पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी (Rajeev Gandhi Jayanti) की आज 75वीं जयंती है। इस मौके पर उनके पुत्र और दिग्गज कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने उनकी समाधी पर जाकर उन्हें श्रद्धा सुमन अर्पित किए।

पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी (Rajiv Gandhi) की जयंती है। राजीव गांधी की जयंती पर कांग्रेस (Congress) ने बीजेपी (BJP) को राम और राम मंदिर (Ram Mandir) निर्माण के मुद्दे पर तगड़ा जवाब देने की कोशिश की है।

अयोध्या में बरसों की प्रतीक्षा खत्म हो गई। पीएम मोदी के हाथों शुक्रवार को राम मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन हुआ। पीएम मोदी के भूमि पूजन करने के साथ ही पूरा देश ‘जय श्रीराम’ के नारों से गूंज उठा। ये तो हो गई अभी की बात लेकिन अयोध्‍या के बारे में बहुत कुछ प्रचलित है। इन्हीं में एक है 1986 में राममंदिर के ताले का किस्सा।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इससे पूर्व 28 साल पहले 1992 में पहली बार अयोध्या पहुंचे थे। तब वह भाजपा के तत्कालीन अध्यक्ष डॉ. मुरली मनोहर जोशी के नेतृत्व में निकली तिरंगा यात्रा में उनके सहयोगी के तौर पर अयोध्या पहुंचे थे।

राजीव गांधी की 75वीं जयंती पर सोनिया, राहुल समेत कई दिग्गजों ने दी श्रद्धांजलि

पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की आज 75वीं जयंती है। इस अवसर पर पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, पूर्व उप राष्ट्रपति हामिद अंसारी, कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, कांग्रेस नेता राहुल गांधी, कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी, गुलाम नबी आजाद, अहमद पटेल समेत कई कांग्रेस नेताओं ने उन्हें श्रद्धांजलि दी।

अमित शाह ने कांग्रेस को पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की याद दिलाई और बताया कि किस तरह से 370 के चलते राजीव गांधी का अपना सपना कश्मीर में लागू नहीं हो सका।

जेल से परोल पर बाहर आई राजीव गांधी की हत्या की दोषी नलिनी

पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की हत्या मामले में दोषी नलिनी श्रीहरन जेल से बाहर आ गई है। उसे मद्रास हाईकोर्ट से 30 दिन की परोल मिली थी, जिसके बाद गुरुवार को वह जेल से बाहर आ गई। नलिनी ने अपनी बेटी की शादी की तैयारी के लिए मद्रास हाईकोर्ट से 6 महीने की परोल की मांग की थी।

राजीव गांधी की कातिल नलिनी 27 साल लगातार जेल में रहने के बाद अब बाहर निकल सकेगी। मद्रास हाईकोर्ट ने उसकी याचिका पर मुहर लगा दी है।