राज्यसभा चुनाव

कोरोना पॉजिटिव तबरेज शाहीन बाग के प्रोटेस्ट में भी शामिल होने जाता था। टेस्ट के बाद वो कोरोना संक्रमित पाया गया है। उसके साथ उसकी मां भी कोरोना संक्रमित हो गई है। जानकारी के मुताबकि दोनों मां-बेटे 10 मार्च को दिलशाद गार्डन में सऊदी अरब से आई अपनी बहन से मिलने गए थे। वहीं से दोनों मां बेटे कोरोना की चपेट में आ गए। 

अधिकांश भारतीयों ने कोरोनोवायरस महामारी को मद्देनजर रखते हुए गंभीरता से हाथों की साफ सफाई पर ध्यान दे रहे हैं। लेकिन 75.5 फीसदी लोगों को मास्क पहनने में भरोसा नहीं। 78.5 प्रतिशत भारतीय हैंड सैनिटाइजर का उयोग नहीं कर रहे हैं। जिससे हालात और भी बदतर हो सकती है।

84 प्रतिशत लोगों का मानना है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार कोरोनोवायरस महामारी को अच्छी तरह से संभाल रही है। आईएएनएस सी-वोटर गैलप इंटरनेशनल एसोसिएशन द्वारा किए गए एक सर्वेक्षण के अनुसार, भारत दुनिया का दूसरे देश है जहां लोगों को यह विश्वास है कि उनकी सरकार पूरी तरह स्थित को काबू करने में सफल रही है।

बता दें कि 17 राज्यों की कुल 55 राज्यसभा सीटें अप्रैल में खाली हो रहीं थीं। इन सीटों पर 26 मार्च को चुनाव के लिए आयोग ने अधिसूचना जारी की थी। हरियाणा, हिमाचल प्रदेश सहित कई राज्यों की अधिकांश सीटों पर निर्विरोध निर्वाचन हु। सिर्फ 18 राज्यसभा सीटों पर मतदान के जरिए चुनाव होना था।

राज्यसभा चुनाव से पहले कांग्रेस को बड़ा झटका लगा है। सोमवार को गुजरात कांग्रेस के एक और विधायक ने इस्तीफा दे दिया है। गुजरात में अब इस्तीफा देने वाले विधायकों की संख्या बढ़कर 5 हो गई है।

ध्यान रहे कि हरियाणा विधानसभा की सदस्य संख्या 90 है। जीतने वाले उम्मीदवार को 46 वोट यानी 46 विधायकों का समर्थन चाहिए। चूंकि भाजपा के 40 विधायक हैं एवं उसे 10 जेजेपी और छह निर्दलीय उम्मीदवारों का समर्थन प्राप्त है। कांग्रेस के पास 31 विधायक हैं, इसलिए उपचुनाव वाली सीट के लिए उसे 15 और विधायक जुटाने पड़ेंगे, जो मुश्किल दिखाई देता है।

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने गुरुवार को राज्यसभा की पांच और सीटों के लिए उम्मीदवारों के नामों की घोषणा की। इसमें पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष दुष्यंत कुमार गौतम का नाम प्रमुख है।

उत्तर प्रदेश की राज्यसभा सीट पर भाजपा उम्मीदवार सुधांशु त्रिवेदी निर्विरोध निर्वाचित हुए। विधानसभा के विशेष सचिव बीबी दुबे ने बताया कि बुधवार को नामांकन पत्र वापस लेने की अंतिम तारीख थी

पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली के निधन के बाद खाली हुई उनकी राज्यसभा सीट के लिए भाजपा उम्मीदवार सुधांशु त्रिवेदी ने शुक्रवार को अपना नामांकन दाखिल किया।

भारत के पूर्व प्रधानमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता डॉ. मनमोहन सिंह एक बार फिर से राज्यसभा पहुंच सकते हैं। राजस्थान की एक सीट के लिए होने वाले उपचुनाव में वो 13 तारीख को नामांकन दाखिल करेंगे।