राम मंदिर भूमिपूजन

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान रेटिंग स्टार के रूप में उभरे हैं। नीलसन एंड ब्रॉडकास्ट ऑडियंस काउंसिल (बीएआरसी) के प्रजेंटेशन में स्वतंत्रता दिवस (Independence Day) के दिन मोदी के कार्यक्रम को टेलीविजन पर 4.64 बिलियन यानि कि 4.64 अरब मिनट तक देखे जाने का रिकॉर्ड बना।

विदेश मंत्रालय ने पाकिस्तान की राम मंदिर निर्माण पर की गई टिप्पणी पर कहा, 'हमने भारत के आंतरिक मामले में इस्लामिक रिपब्लिक ऑफ पाकिस्तान के बयान को देखा है। उसे भारत के मामलों में दखल देने और सांप्रदायिकता को शह देने से बचना चाहिए।'

उन्होंने लिखा, 'आज का दिन भारत के लिए एक ऐतिहासिक व गौरवपूर्ण दिन है। प्रभु श्री राम की जन्मभूमि पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा भव्य राम मंदिर का भूमि पूजन व शिलान्यास किया गया, जिसने महान भारतीय संस्कृति व सभ्यता के इतिहास का एक स्वर्णिम अध्याय लिखा है और एक नए युग की शुरुआत की है।'

उन्होंने कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भारत की लोकतांत्रिक शक्ति और यहां की न्यायपालिका ने दुनिया को दिखा दिया है कि विवाद के मुद्दों को शांतिपूर्वक, लोकतांत्रिक और संवैधानिक तरीके से सुलझाया जा सकता है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बुधवार दोपहर को जब अयोध्या में राम मंदिर की आधारशिला रखेंगे, तो राक्षसराज रावण का मंदिर भी 'जय श्री राम' के जयकारों से गूंज उठेगा।

पटेल का यह बयान अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन कार्यक्रम की पूर्वसंध्या पर आया है। विपक्षी दल के 26 वर्षीय नेता ने कहा, '' मैं आशा करता हूं कि मंदिर भारत और गुजरात में राम राज्य लाएगा।''

मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस से राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह के ट्वीट पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पलटवार करते हुए करारा जवाब दिया है।

महाराष्ट्र भाजपा की आध्यात्मिक विंग ने पत्र में लिखा, "महाराष्ट्र के हर गांव, कस्बे, जिले में करोड़ों लोग भूमि पूजन का कार्यक्रम लाइव टीवी पर देखेंगे। इसलिए भूमि पूजन के दौरान कहीं भी बिजली सेवा खंडित नहीं होगी, यह सुनिश्चित करें।"