राम मंदिर भूमि पूजन

पहले राम मंदिर के मॉडल में दो गुंबद और शिखर बने थे। अब इसमें गुंबदों की संख्या पांच कर दी गई है। शिखर की ऊंचाई 161 फीट की गई है।

उत्तर प्रदेश के अयोध्या में सरयू नदी के तट पर संध्या आरती की गई है। पुजारियों ने सोमवार शाम यह आरती की।

राम जन्म भूमि भूजन कार्यक्रम को लेकर रामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने सोमवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस की।

शिवराज सिंह चौहान ने कहा, उच्चतम न्यायालय में (कांग्रेस ने) हलफनामा देकर कहा कि भगवान राम कभी पैदा ही नहीं हुए, यह एक कोरी कल्पना है।

अयोध्या के हनुमान गढ़ी से ऑनलाइन शुरू होने वाले इस अखंड मानस आयोजन का समापन भोपाल में होगा।

यूपी सीएम ने इस दौरान भूमि पूजन स्थल के अलावा हनुमानघड़ी मंदिर का दौरा भी किया। बता दें कि अयोध्या में पांच अगस्त को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तरफ से राममंदिर का भूमिपूजन किया जाएगा।

जबलपुर की उर्मिला चतुर्वेदी द्वारा 28 वर्ष तक अन्न न ग्रहण करने की जानकारी मिलने पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने रामस्तुति ट्वीट की, "श्री रामचंद्र कृपालु भजुमन हरण भवभय दारुणं। नव कंज लोचन कंज मुख कर कंज पद कंजारुणं।"

श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के कार्यालय प्रभारी ने उन खबरों को खारिज कर दिया है, जिसमें राम मंदिर आंदोलन को धार देने वाले और भाजपा के अति वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी को भूमि पूजन का आमंत्रण न मिलने की बातें कही जा रहीं थी।

चंपत राय के मुताबिक भूमि पूजन कार्यक्रम में गृह मंत्री अमित शाह शामिल नहीं होंगे, वो अगली बार अयोध्या आएंगे।

दूरदर्शन पर भूमि पूजन कार्यक्रम दिखाए जाने को लेकर प्रसार भारती के पूर्व CEO रहे जवाहर सरकार ने दूरदर्शन पर दिखाए गए कार्यक्रमों, जोकि हिंदू धर्म से जुड़े रहे, उनको लेकर एक लेख लिखा है।