‘राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप

ट्रंप ने कहा कि उन्हें गोलीबारी के मामले में युवक की पहचान या मकसद के बारे में पता नहीं चल सका है। हालांकि, अभी तक यह जानकारी सामने नहीं आ सकी है कि उस युवक से आखिर किस तरह का खतरा था।

ट्रंप ने नवंबर तक वैक्सीन आने की संभावना को लेकर कहा कि, मुझे लगता है कुछ मामलों में यह संभव है। उन्होंने आगे कहा, ‘वैक्सीन साल के अंत से काफी पहले ही तैयार हो जाएगी।’

ट्रंप ने कहा कि कोरोना वायरस एक वैश्विक समस्या है और अमेरिका वेंटिलेटर देकर दूसरे देशों की मदद कर रहा है । ट्रंप ने कहा, ‘‘हम कई देशों की मदद कर रहे हैं।

हालांकि उन्होंने किसी तरह का कोई सबूत या सटीक जानकारी नहीं दी। बाइडेन ने शुक्रवार को कहा, 'मैं अब जानता हूं कि क्योंकि मुझे फिर से गोपनीय सूचना मिल रही है।

भारत की ही तरह ही अमेरिका भी ब्रिटिश साम्राज्‍य का गुलाम रहा था। अमेरिकी स्‍वतंत्रता संग्राम 1765 से 1783 तक चला, जिसके बाद 4 जुलाई 1776 को संयुक्त राज्य अमेरिका की स्वतंत्रता की घोषणा हुई थी।

बाइडेन ने शुक्रवार की रात एक बयान में कहा कि डेमोक्रेटिक पार्टी के सबसे प्रतिभाशाली उम्मीदवारों के साथ नामांकन के लिए मुकाबला करना मेरे लिए सम्मान की बात है।

चीन की तरफ से भारत को आर्थिक मोर्चे पर नुकसान झेलने की बात कही गई है। बता दें कि चीन ने चेतावनी दी है कि अगर अमेरिका और चीन में नया कोल्ड वॉर शुरू होता है और भारत अमेरिका के पक्ष में जाने का तय करता है तो ये चीन और उसके व्यापारिक रिश्तों के लिए काफी घातक साबित हो सकता है।

ट्रंप ने कहा कि दंगा, लूटपाट, बर्बरता, हमले और संपत्ति के विनाश को रोकने के लिए सभी उपलब्ध संघीय संसाधनों और सेना को जुटाएंगे और कानून का पालन करने वाले अमेरिकियों के अधिकारों की रक्षा करेंगे। उन्होंने कहा कि हम उन दंगों और अराजकता को समाप्त कर रहे हैं जो पूरे देश में फैले हुए हैं।

अमेरिका में अश्वेत जॉर्ज फ्लॉयड की हत्या के विरोध में हो रहे हिंसक प्रदर्शनों की आंच व्हाइट हाउस तक पहुंच चुकी है। वाशिंगटन डीसी में शुक्रवार रात व्हाइट हाउस के बाहर प्रदर्शनकारियों के जमा होने पर राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को कुछ समय के लिए एक भूमिगत बंकर में ले जाया गया था।

बता दें कि इस दवा के इस्तेमाल से कोरोना के मरीजों में मौत की संभावना बढ़ने के दावे के चलते एहतियात के तौर पर WHO ने इसपर अस्थायी रोक लगाई थी।