राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप

Coronavirus Vaccine: दुनियाभर में कोरोना वायरस (Coronavirus) के कुल मामलों का आंकड़ा (Corona Cases) बढ़कर 3.20 करोड़ के पार पहुंच गया है। ऐसे में अमेरिका (America) से राहत की खबर सामने आई है।

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने एक बड़ा फैसला लिया है। जिसके तहत अब अमेरिका अपने करीब 12 हजार सैनिकों को जर्मनी से वापस बुलाएगा।

दुनिया में कोरोना का कहर सबसे ज्यादा अमेरिका झेल रहा है। इस समय वहां संक्रमण का आंकड़ा 40 लाख के करीब पहुंचने वाला है और इस समय भी अमेरिका में मास्क को लेकर एक बहस चल रही है।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, वाशिंगटन पोस्ट-एबीसी न्यूज पोल में 12 और 15 जुलाई के बीच एकत्र किए गए आंकड़ों में नजर आए 60 प्रतिशत अस्वीकृति को शुक्रवार को जारी किया गया, जिसमें मार्च के बाद से 15 प्रतिशत अंकों में वृद्धि हुई है।

भारत से पंगा लेना ड्रैगन को अब महंगा पड़ रहा है। चीन को सबक सिखाने के लिए पिछले दिनों भारत सरकार ने टिकटॉक समेत 59 चाइनीज ऐप को बैन कर दिया था। भारत ने जब चीनी मोबाइल ऐप टिकटॉक पर बैन लगाया तो दुनिया को एक बड़ा संदेश गया।

अमेरिका अब चीन के साथ अलग तरीके से पेश आएगा। अमेरिका की चीन को लेकर तैयारी कुछ बदलेगी ऐसा अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ ने कहा है। पोम्पिओ ने कहा कि अमेरिका को चीन के साथ अब अलग तरीके से पेश आना होगा।

दरअसल अमेरिका ने यूरोप से अपनी सेना हटाकर एशिया में तैनात करने का फैसला किया है। इसकी शुरुआत वो जर्मनी से करने जा रहा है। माना जा रहा है कि अमेरिका जर्मनी में तैनात 34,500 अमेरिकी सैनिकों में से 9,500 सैनिकों को एशिया में तैनात करेगा।

अमेरिका में राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने उइगर मुसमानों को लेकर ने बिल पास कर दिया है। जिसके बाद चीन तिलमिला उठा है। चीन में उइगर मुस्लिमों के खिलाफ हो रही कार्रवाई के खिलाफ ये बिल पास किया है।

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को लेकर एक बड़ा दावा किया जा रहा है। कहा जा रहा है कि अमेरिकी राष्ट्रपति पद के चुनाव में दोबारा जीतने के लिए जी-20 शिखर सम्मेलन में चीन के अपने समकक्ष शी चिनफिंग से मदद मांगी थी।

अमेरिका में प्रदर्शन कर रहे लोगों पर भड़के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप। उन्होंने ट्विटर पर एक पत्र शेयर किया है। जिसमें उन्होंने शांतिपूर्ण प्रदर्शनकारियों को 'आतंकवादी' कहा है।