राष्ट्रपति बरहम सलीह

समाचार एजेंसी सिन्हुआ के अनुसार, विदेश विभाग द्वारा मंगलवार को जारी बयान में कहा गया कि दोनों नेताओं ने तुर्की के सैन्य अभियान पर चिंता व्यक्त की और कहा कि अंकारा को इसे तुरंत रोकने की जरूरत है।