राष्ट्रपति शी जिनपिंग

चीनी उप विदेश मंत्री मा चाओश्यू ने कहा कि चीन अनवरत विकास को अपनी मूल राष्ट्रीय नीति मानता है और पूरी तरह से 2030 अनवरत विकास कार्यसूची लागू कर रहा है।

मिली जानकारी के मुताबिक दोनों देश इस मीटिंग के बाद अलग-अलग बयान जारी करेंगे। हालांकि दोनों नेताओं के बीच मुलाकात की वजह स्पष्ट नहीं है। कहा जा रहा है कि दोनों नेताओं के बीच यह मुलाकात साल 2018 में चीन के वुहान शहर में हुई वार्ता की तरह अनौपचारिक ही रहेगी।

चीनी एंबेसडर ने कहा कि शुक्रवार-शनिवार को होने वाली नरेंद्र मोदी-शी जिनपिंग के बीच समिट से दोनों देशों के बीच की दोस्ती बढ़ेगी। उन्होंने कहा कि चीन-भारत कभी भी एक दूसरे के लिए खतरा नहीं बन सकते हैं, दोनों का साथ चलना कई देशों के लिए सार्थक साबित हो सकता है।

चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग और भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बीच दूसरी अनौपचारिक शिखर बैठक के दौरान कश्मीर और संविधान के अनुच्छेद 370 को खत्म करने के मुद्दों पर कोई बातचीत नहीं होगी, क्योंकि ये मुद्दे भारतीय संविधान और भारत की संप्रभुता से जुड़े हुए हैं।

इस सम्मेलन के दौरान उनकी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात होगी। इस दौरान पीएम मोदी और चीनी राष्ट्रपति जिनपिंग समुद्र किनारे बने रिसॉर्ट में रहेंगे जहां से बंगाल की खाड़ी का नजारा दिखता है।

चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग अक्टूबर के दूसरे हफ्ते में भारत आ रहे हैं। शी जिनपिंग की यह भारत यात्रा बेहद अहम मानी जा रही है। इसे आर्थिक और कूटनीतिक दोनों ही तौर पर वरीयता दी जा रही है। इस यात्रा का एक अहम पहलू यह भी है कि पीएम मोदी चीन के राष्ट्रपति का स्वागत दक्षिण भारत के एक ऐतिहासिक शहर में करेंगे।

इस दौरान दोनों नेताओं की दूसरे अनौपचारिक शिखर सम्मेलन के दौरान मुलाकात होगी। पिछले साल शी जिनपिंग के बुलावे पर पीएम मोदी तीन दिन के दौरे पर चीन गए थे जहां दोनों के बीच अनौपचारिक समिट हुआ था।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक, मंगलवार को फोन कॉल के दौरान, ट्रंप ने कहा कि वह इस महीने के आखिर में जापानी शहर ओसाका में आगामी जी-20 शिखर सम्मेलन के दौरान शी से मिलने और द्विपक्षीय संबंधों और आम चिंता के मुद्दों पर गहन चर्चा करने के लिए उत्सुक हैं।

एफे न्यूज के मुताबिक, ट्रंप ने सीएनबीसी से एक साक्षात्कार में कहा कि अगर शी जी20 सम्मेलन में शामिल नहीं होंगे तो वह चीन पर तत्काल नए कर लगा देंगे।

चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग इस साल भारत के दौरे पर आएंगे जिसके लिए जगह और तारीखें तय की जा रही हैं। विदेश मंत्रालय ने बुधवार को यहां यह जानकारी दी।