राहुल गांधी

सचिन पायलट यहां कांग्रेस के लिए जीत तय करनेवाले विमान की मुख्य सीट पर बैठकर उसको चला रहे थे और सत्ता की मलाई खाने का जब वक्त आया तो पार्टी की तरफ से अशोक गहलोत को सामने लाकर खड़ा कर दिया।

वरिष्ठ भाजपा नेता व केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि 'कुनबे की कालीन' के नीचे 'करप्शन के कचरे' का कोलाहल साफ दिख रहा है।

कांग्रेस में जारी अंतर्कलह को लेकर पार्टी के कई वरिष्ठ नेता चिंतिति और परेशान नजर आ रहे हैं। कल इसी को लेकर दिग्विजय सिंह का भी बयान आया था। अब कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने अपनी पार्टी के लिए चिंता जाहिर की है।

भारत-चीन विवाद पर कांग्रेस लगातार मोदी सरकार पर हमलावर रही है। गलवान घाटी में हुई हिंसक झड़प के बाद विपक्ष अक्सर केंद्र सरकार पर निशाना साध रही है।

जब से यूजीसी ने फाइनल ईयर की परीक्षाएं कराने का फैसला सुनाया है, तभी से स्टूडेंट इस फैसले का खूब विरोध कर रहे हैं। ऐसे में राहुल गांधी ने “Speak Up Against Students के नाम से एक कैंपेन शुरू किया है।

राहुल ने कहा कि अनियोजित लॉकडाउन में भूख से मरता परिवार, इन बच्चियों ने ज़िंदा रहने की ये भयावह कीमत चुकाई है। क्या ये ही हमारे सपनों का भारत है?

गौरतलब है कि राहुल गांधी का ये ट्वीट गृह मंत्रालय द्वारा कांग्रेस और गांधी परिवार से जुड़े 3 ट्रस्टों की जांच के लिए समिति गठित किए जाने के बाद आया है।

मध्य प्रदेश के कृषि मंत्री कमल पटेल ने राजीव गांधी फाउंडेशन को चीन से चंदा मिलने के बाद आयात में दी गई रियायतों के लिए तत्कालीन वाणिज्य मंत्री कमलनाथ की भूमिका को संदिग्ध बताते हुए पूरे मामले की सीबीआई से जांच कराने की मांग की है।

उत्तर प्रदेश के कानपुर में बदमाशों के साथ हुई गोलीबारी में मारे गये पुलिसकर्मियों के मामले में विपक्षी दल सरकार पर निशाना साध रहा है। एक सुर में सबने इस मामले में सख्त कार्यवाही की मांग उठाई है।

एक वीडियो संदेश में, राहुल गांधी ने कहा, कोरोनावायरस ने गरीबों, मध्यम और मजदूर वर्गों, वेतनभोगियों को जबरदस्त चोट पहुंचाया है।