राहुल गांधी

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने संयुक्त राज्य अमेरिका को हाइड्रोक्सीक्लोरोक्विन निर्यात किए जाने को लेकर नाराजगी जताई है।

सोनिया गांधी ने अपने कार्यकर्ताओं और समिति के सदस्यों से बात करते हुए कहा कि हम आज एक अभूतपूर्व स्वास्थ्य और मानवीय संकट के बीच मिल रहे हैं। आज पूरे देश के और हमारे सामने कोरोना जैसी भयावह चुनौती है लेकिन इसे दूर करने के लिए हमें दृढ संकल्पित होना चाहिए। 

कोरोनावायरस और लॉक डाउन के बीच पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने मोदी सरकार पर तंज कसा है। सिब्बल ने अपने ट्विटर अकाउंट पर भारत की दो तस्वीरों को पेश करते हुए मौजूदा हालात को बयां किया है।

प्रशासन ने सभी को जमीन पर एक साथ बैठाकर एक साथ उनके उपर केमिकल का छिडकाव करके उन्हें डिसइन्फेक्ट किया। लेकिन इस वीडियो को ट्वीट करते हुए कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के प्रशासन पर निशाना साधा है

कांग्रेस ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से अपनी (कांग्रेस) न्यूनतम आय गारंटी योजना 'न्याय' को लागू करने की मांग की है, जिसका पार्टी ने वादा किया था, लेकिन चुनाव में हार के बाद वह इसे पूरा नहीं कर सकी। कांग्रेस ने अपनी घोषणापत्र में कहा था कि देश में 20 प्रतिशत गरीब परिवारों को न्यूनतम आय योजना (न्याय) के हिस्से के रूप में 72,000 रुपये सालाना मिलेंगे।

मोदी सरकार की तैयारियों को देखते हुए दुनियाभर के अन्य देशों ने भी कोरोना से छिड़ी लड़ाई में भारत की तारीफ की है। ऐसे में कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कोरोना से लड़ने के उपायों पर असंतोष जताया है।

इससे पहले लोकसभा में राहुल गांधी ने बैंक संकट का मुद्दा उठाते हुए सरकार से 50 डिफॉल्टर के नामों की जानकारी मांगी लेकिन लोकसभा के बाहर पत्रकारों के सामने उन्होंने 50 को 500 कर दिया था।

राहुल गांधी ने संसद परिसर में संवाददाताओं से बातचीत में कहा, "बीते रोज मैंने 50 सबसे बड़े विलफुल डिफॉल्टरों के बारे में एक सवाल पूछा था। तो प्रक्रिया है कि यदि आप कोई प्रश्न पूछते हैं तो आप को एक पूरक प्रश्न करने की अनुमति दी जाती है।"

लोकसभा में राहुल गांधी ने बैंक संकट का मुद्दा उठाते हुए सरकार से 50 डिफॉल्टर के नामों की जानकारी मांगी लेकिन लोकसभा के बाहर पत्रकारों के सामने उन्होंने 50 को 500 कर दिया।

राहुल गांधी के इसी बयान पर उनका सोशल मीडिया पर जमकर मजाक उड़ाया जा रहा है। राहुल गांधी को लेकर लोगों का कहना है कि, सदन के भीतर 50 नाम मांगने वाले राहुल गांधी बाहर आते आते 500 पर चले गए।