रूस

भारत के लिए एक और गौरवशाली क्षण आनेवाला है। भारत के पहले मानवयुक्त अंतरिक्ष अभियान गगनयान के लिए चुने गए चार भारतीय अंतरिक्ष यात्रियों ने रूस में फिर से प्रशिक्षण लेना शुरू कर दिया है।

देश में राजधानी मॉस्को कोराना से सबसे ज्यादा प्रभावित है। यहां संक्रमितों की संख्या 115,909 है। बीते 24 घंटों में 6,169 नए मरीज सामने आए हैं। रूस के उपभोक्ता व मानवाधिकार संगठन ने सोमवार को बताया कि रविवार को 247,842 लोगों को निगरानी में लिया गया।

गौरतलब है कि 3 जनवरी को बगदाद अंतर्राष्ट्रीय हवाईअड्डे के पास एक अमेरिकी हवाई हमले के बाद मध्य पूर्व में तनाव बढ़ गया। हमले में ईरान के इस्लामिक रिवोल्यूशनरी गार्ड कॉर्प्स के कुद्स फोर्स के पूर्व कमांडर ईरानी मेजर जनरल कासिम सुलेमानी की मौत हो गई।

ट्विटर पर एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें लोग फिल्म 'शहीद' का गाना 'ऐ वतन' गाते दिख रहे हैं। दिलचस्प बात यह है कि ये लोग कोई और नहीं, बल्कि रूसी सेना के कैडेट हैं, जो एक सुर में 'ऐ वतन, ऐ वतन हमको तेरी कसम तेरी राहों में जां तक लुटा जाएंगे' गाते नजर आ रहे हैं।

भारत की कूटनीतिक सफलता तमाम देशों के सर चढ़कर बोल रही है। भारत ने अमेरिका और रूस दोनों से एक साथ बड़ी डील करने में सफलता हासिल की है। यह डील इसलिए महत्वपूर्ण है क्योंकि अमेरिका, रूस के साथ डील करने का विरोध कर रहा था।

ट्रंप ने बताया कि बगदादी अपने बच्चों के साथ सुरंग के जरिए भागने की कोशिश कर रहा था लेकिन कामयाब नहीं हो पाया। खुद को फंसता हुआ देख बगदादी ने अपनी सुसाइड वेस्ट जला ली और अपने तीन बच्चों समेत मारा गया।

सऊदी अरब और रूस ने विभिन्न क्षेत्रों में महत्वपूर्ण समझौतों पर हस्ताक्षर किए हैं। सऊदी प्रेस एजेंसी ने यह जानकारी दी। रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन की सऊदी अरब की यात्रा के दौरान ये समझौते हुए।

वांग के सुर में सुर मिलाते हुए लावरोव ने कहा कि दोनों देशों को अंतर्राष्ट्रीय और क्षेत्रीय मामलों में रणनीतिक समन्वय बढ़ाना चाहिए और संयुक्त राष्ट्र चार्टर के सिद्धांतों और उद्देश्यों और अंतर्राष्ट्रीय कानून को संयुक्त रूप से बरकरार रखना चाहिए।

दरअसल पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान ने रूस के एक अंग्रेजी न्‍यूज चैनल RT को दिए इंटरव्‍यू में कबूल करते हुए कहा है कि 1980 में अफगानिस्‍तान में रूस (तत्‍कालीन सोवियत संघ) के खिलाफ लड़ने के लिए पाकिस्‍तान ने जेहादियों को तैयार किया। उन्‍हें ट्रेनिंग दी।

रूस के उप प्रधानमंत्री और फार इस्टर्न फेडरल डिस्ट्रिक्ट के लिए सर्वशक्तिमान दूत यूरी ट्रूनेव ने कहा, सुदूर पूर्व में शुरू की गई 1800 परियोजनाएं आश्चर्यजनक हैं। रूसी संघ के राष्ट्रपति के कहने पर शुरू की गई तरजीही आर्थिक नीति को लेकर मैं आश्वस्त हूं।