रूस

जापान के ओसाका में जून के अंत में होने वाले जी-20 शिखर सम्मेलन के दौरान दोनों नेताओं की मुलाकात की घोषणा ऐसे समय में हुई है जब दोनों देशों के बीच हथियार नियंत्रण, वेनेजुएला, यूक्रेन और ईरान के मुद्दों पर मतभेद हैं।

आतंकवाद पर बेनकाब हो चुका पाकिस्तान अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा है। खुफिया एजेंसियों ने सुरक्षा महकमे में एक रिपोर्ट दी है, जिसके मुताबिक पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई रूस में मौजूद कुछ स्थानीय निवासियों की मदद से कश्मीर मुद्दे को लेकर भारत विरोधी गतिविधियों को फैलाने में जुटी है।

कंपनी ने रूस से संचालित 21 फेसबुक अकाउंट, पेज और इंस्टाग्राम अकाउंट भी हटा दिए जो ऑस्ट्रिया, बाल्टिक देशों, जर्मनी, स्पेन, यूक्रेन और इंग्लैंड पर ध्यान देते थे। अभियान चलाने वाले लोग आव्रजन, धार्मिक मुद्दे और नाटो से संबंधित स्थानीय राजनीति से संबंधित कंटेंट पोस्ट करते थे।

तुर्की ने रूस से मिसाइल खरीद पर आगे बढ़ने पर अमेरिका द्वारा उस पर प्रतिबंध लगाने की धमकियों को खारिज करते हुए रविवार को कहा कि वह मॉस्को को किए वादे से पीछे नहीं हटेगा। अमेरिका ने कहा है कि यदि तुर्की ने रूसी मिसाइल रक्षा प्रणाली हासिल किया तो वह उसके साथ संयुक्त एफ - 35 कार्यक्रम रोक देगा।

बीबीसी की रविवार की रिपोर्ट के अनुसार, सोशल मीडिया पर वायरल हुए वीडियो में यात्रियों को जलते हुए एयरोफ्लॉट विमान से बचकर निकलने के लिए आपातकालीन द्वार से निकलने की कोशिश करते हुए देखा जा सकता है। रूस की मीडिया के अनुसार, मृतकों में दो बच्चे और एक फ्लाइट अटेंडेंट भी हैं।

ट्रंप ने ट्वीट किया, "कल रूस के राष्ट्रपति पुतिन के साथ बहुत अच्छी बातचीत हुई। आप फेक न्यूज मीडिया में जो कुछ भी पढ़ते और देखते हैं, उसके बावजूद, रूस के साथ अच्छे/शानदार रिश्ते की अपार क्षमता है।"

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा है कि उन्होंने रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के साथ टेलीफोन पर एक घंटे बातचीत की जिसमें 'रूसी होक्स' समेत कई मुद्दों पर बातचीत हुई। बीबीसी ने शुक्रवार को बताया कि अमेरिकी राष्ट्रपति ने ट्वीट किया, "राष्ट्रपति पुतिन के साथ लंबी और बहुत अच्छी बातचीत की।"

चीन के रवैये में आ रहे बदलाव को लेकर माना जा रहा है कि उसका पाकिस्तान प्रेम अब कम हो रहा है। ऐसे में अगर मसूद का नाम ब्लैक लिस्ट में जाता है तो इसे मोदी सरकार की कूटनीतिक जीत के तौर पर देखा जाएगा।

रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन और उत्तर कोरियाई नेता किम जोंग-उन गुरुवार को पहली बार व्लादिवोस्तक में एक-दूसरे से मिले। दोनों नेता यहां शिखर सम्मेलन में वार्ता करेंगे।

उत्तर कोरिया के शीर्ष नेता किम जोंग-उन रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के साथ अपने पहले शिखर सम्मेलन के लिए जल्द ही मास्को का दौरा करेंगे। एफे न्यूज की रिपोर्ट के अनुसार, कोरियन सेंट्रल न्यूज एजेंसी ने मंगलवार को इस बात की पुष्टि की। इसमें कहा गया है कि दोनों नेताओं के बीच वार्ता होगी।