लाइफस्टाइल

एक बयान में बताया गया है कि आयुर्वेदिक फार्मूले से बनी इस आधुनिक दवा के प्रभाव को वैज्ञानिक आकलन के आधार पर प्रमाणित किया जा चुका है। इस बीमारी के गंभीर मरीजों के इलाज में इस दवा को पूरक औषधि के तौर पर इस्तेमाल किया जाता है।

अदरख को भी जड़ी बूटी के तौर पर देखा जाता है। एक हालिया शोध में यह तथ्य सामने आए हैं कि अदरख के मौखिक सेवन से अस्थमा में काफी आराम मिलता है। इसके साथ ही चाय के साथ इसका सेवन कर इसका सेवन डिटॉक्स ड्रिंक के तौर पर किया जा सकता है।

इलायची-तुलसी का डिटॉक्स वॉटर भी काफी फायदेमंद होता है। इलायची एक अच्छे पाचक की तरह काम करती है और तुलसी शरीर के विषैले तत्वों को बाहर निकालती है।

व्यस्त स्थानों, भीड़भाड़ भरे इलाकों या कन्सट्रक्शन साईट के नजदीक न जाएं। अगर सांस लेने में तकलीफ हो, बहुत ज्यादा खांसी हो तो तुरंत डॉक्टर की सलाह लें।

देवों में भगवान सूर्य देव का प्रसिद्ध मंदिर है। छठ पूजा के दौरान यहां जमकर लोग इकट्ठा होते हैं और तीन दिन तक यहां छठ का त्योहार मनाते हैं। यहां काफी दूर दूर से लोग आते हैं।

वर्ष 2015 के दौरान आकस्मिक चोटों के कारण 4.13 लाख लोगों की जान चली गई और 1.33 लाख लोगों की आत्महत्या के कारण मृत्यु हो गई। भारत में दिव्यांगों की कुल संख्या 2.68 करोड़ बताई गई है।

इस दिन बहनें अपनी भाइयों को रोली और अक्षत से तिलक करके उनके उज्जवल भविष्य की कामना करती हैं। इसे भाई बहन के प्यार और त्याग के त्योहार के रूप में मनाया जाता है।

आतिशबाजी से होने वाले प्रदूषण के बढ़ते खतरे के मद्देनजर पिछले साल दिवाली से पहले सुप्रीम कोर्ट के एक आदेश में सिर्फ हरित पटाखे बेचने की अनुमति प्रदान की थी।

इस दिवाली अपनों को सेहतमंद तोहफा देने के लिए बादाम स्‍नैक्स का सबसे अच्‍छा विकल्‍प है।

डॉ. अजित कुमार ने कहा, "देश का भोजन सुरक्षित है और इसके जहरीला होने की अफवाह वे फैला रहे हैं, जिनका विज्ञान से कोई लेना-देना नहीं है।