लाइफस्टाइल

कक्यूर्मा लॉन्गा (हल्दी के पौधे) की जड़ों से निकले करक्यूमिन को पेट का कैंसर रोकने या उससे निपटने में मददगार पाया गया है।

अगर आप समझते हैं कि कार्यालय में काम के दबाव को आप सहन नहीं कर सकते, तो थोड़ा सुस्ता लीजिए। हां, एक और बात आपकी चिंता बढ़ा सकती है, और वह है ठीक से नींद ना लेना।

यूनिसेफ 24 अप्रैल को एक नया वैश्विक अभियान शुरू कर रहा है, जिसमें अभिभावकों और व्यापक सोशल मीडिया का इस्तेमाल करने वालों के बीच वैक्सीन की ताकत व सुरक्षा पर जोर दिया गया है।

गर्मियों का दिन आते ही लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। बार-बार प्यास लगना, कड़ी धूप से कहीं ना कहीं जीवनशैली अव्यवस्थित हो जाती है।

बात चाहे विदेशी खाने की हो या भारतीय खाने की, नमक के बिना दोनों का ही स्वाद अधूरा रहता है। नमक न सिर्फ खाने का स्वाद बढ़ाता है बल्कि आपके डाइजेशन को भी ठीक रखता है।

क्या आप नींद संबंधी विकार से पीड़ित हैं? यह आनुवांशिक दोष है। शोधकर्ताओं ने यह खोज की है कि हमारे शरीर के कई भागों के आनुवांशिक कोड खराब नींद के लिए जिम्मेदार हो सकते हैं। मेसाचुसेट्स जनरल अस्पताल और एक्सेटर विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं ने 47 ऐसी कड़ियों की पहचान की है, जो आनुवांशिक कोड और नींद के गुण और मात्रा से संबंधित हैं।

दुनियाभर में 7 अप्रैल 'वर्ल्ड हेल्थ डे' के रूप में मनाया जाता है। वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन (WHO) हर साल 7 अप्रैल को वर्ल्ड हेल्थ डे का आयोजन करता है।

इंसान का खुद पर विश्वास होना बहुत जरूरी है। यही वो चीज है जिसकी बदौलत इंसान सफलता की सीढ़ी चढ़ता है। आपके भीतर का आत्मविश्वास आपको लोगों के सामने कॉफिडेंट बनाए रखने में आपकी मदद करता है।

अगर आप केले नहीं खाते तो खाना शुरू कर दें। क्योंकि हर दिन एक केला खाने से अंधेपन का खतरा दूर होता है।इसका कारण है केले में कैरोटिनॉइड यौगिक का पाया जाना।

सभी लोगों को कभी न कभी एकांत और शांति की आवश्यकता होती है। सभी के जीवन में एक समय ऐसा आता है जब व्यक्ति खुद के साथ कुछ समय बिताना चाहता है।