लालकृष्ण आडवाणी

लेकिन अगर अतीत में देखा जाए तो सुषमा का कांग्रेस नेता के तौर पर राजनीति में कदम रखने वाली सोनिया गांधी के खिलाफ बेल्लारी में 'विदेशी बहू' बनाम 'भारतीय नारी' का चुनावी मुकाबले में खड़े होने भी उतना ही महत्वपूर्ण था।

आडवाणी ने एक बयान में कहा, "और इतने सालों में, वह हमारी पार्टी के सबसे लोकप्रिय और प्रमुख नेताओं में से एक बन गई - वास्तव में, वह महिला नेताओं के लिए एक रोल मॉडल बन गईं।" उन्होंने कहा कि वह अपने "सबसे करीबी सहयोगियों में से एक सुषमा स्वराज के असामयिक निधन से बेहद दुखी हैं।"

इन दोनों वरिष्ठ नेताओं के साथ ही पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज भी इस बैठक में शामिल नहीं होंगी। ये सारे नेता किसी भी सदन के सदस्य नहीं हैं। इस बैठक में पीएम मोदी लोकसभा और राज्यसभा के करीब 380 सांसदों को संबोधित करेंगे। 

पूर्व उप-प्रधानमंत्री और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के दिग्गज नेता लालकृष्ण आडवाणी अपनी बेटी और परिवारवालों के साथ शनिवार को सात दिनों के निजी दौरे पर हिमाचल प्रदेश के शिमला पहुंचे।

बीजेपी के दिग्गज नेता लालकृष्ण आडवाणी 1991 से 6 बार सांसद रह चुके हैं। लेकिन इस बार बीजेपी ने गांधीनगर से उन्हें टिकट नहीं देकर अमित शाह को मैदान में उतारा था। 

लोकसभा चुनाव में बंपर जीत के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह पार्टी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी से उनके घर पर मुलाकात की और जीत का आशीर्वाद लिया।

1991 से गांधीनगर संसदीय क्षेत्र से पार्टी का प्रतिनिधित्व कर रहे आडवाणी को टिकट नहीं दिया गया और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने वहां से अपना नामांकन भरा है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को भाजपा के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी के ब्लॉग पर प्रतिक्रिया जाहिर करते हुए कहा कि पार्टी के संस्थापक ने पूरी तरह से भारतीय जनता पार्टी के मूल तत्व का सार प्रस्तुत किया।

भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी ने 6 अप्रैल को भाजपा के स्थापना दिवस को लेकर एक ब्लॉग लिखा। उन्होंने लिखा कि अपनी स्थापना से ही, भाजपा में जो लोग राजनीतिक रूप से हमारे विचार को नहीं मानते, को अपने दुश्मन नहीं बल्कि अपने विपक्षी के तौर पर देखा।

भारतीय जनता पार्टी के साथ राजनीति की लंबी पारी खेलने वाले अभिनेता शत्रुघ्न सिन्हा के कांग्रेस से जुड़ने पर उनकी बेटी व बॉलीवुड अभिनेत्री सोनाक्षी सिन्‍हा ने प्रतिक्रिया दी है। उन्‍होंने कहा कि यह उनके पिता की व्‍यक्तिगत पसंद है और अगर 'आप कहीं खुश नहीं हैं तो आपको बदलाव करना ही चाहिए। उन्‍होंने उम्‍मीद जताई कि अब वह 'दबावमुक्‍त' होकर अच्‍छा काम कर पाएंगे।