लॉकडाउन

देश में कोरोना की वजह से अबतक 40 हजार 699 लोगों की मौत हुई है। टेस्टिंग को लेकर भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (ICMR) ने बताया कि, 5 अगस्त तक टेस्ट किए गए COVID-19 सैंपलों की कुल संख्या 2,21,49,351 है।

आईएचएस मार्किट ने एक बयान में कहा कि आर्थिक गतिविधियों और नए कार्यो दोनों में कमी पाई गई क्योंकि लॉकडाउन के कारण मांग सुस्त रही कंपनियों को अपना ऑपरेशन बंद करना पड़ा।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, मंगलवार तक संक्रमण से हुई मौतों का आंकड़ा 95,819 तक पहुंच गया है, वहीं पिछले 24 घंटों में 51,603 नए संक्रमणों के साथ देश में संक्रमित लोगों की संख्या 2,801,921 हो गई।

टेस्टिंग को लेकर भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (ICMR) ने बताया कि भारत में कल(4 अगस्त) तक कोरोना वायरस के लिए कुल 2,14,84,402 सैंपल का टेस्ट किया गया, जिसमें से 4 अगस्त को 6,19,652 सैंपल का टेस्ट किया गया।

टेस्ट को लेकर स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय ने जानकारी दी कि, भारत में पिछले 24 घंटे में 6,61,715 टेस्ट किए गए हैं। जिसे मिलाकर देश में अबतक कोरोना वायरस के कुल 2,08,64,206 टेस्ट हो चुके हैं।

कोरोना संकट के बीच टेस्टिंग को लेकर भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (ICMR) ने बताया कि 2 अगस्त तक टेस्ट किए गए COVID-19 सैंपलों की कुल संख्या 2,02,02,858 है

कोरोना हॉटस्पॉट गंजम जिले में सबसे ज्यादा 99 मौतें हुई हैं। इसके बाद खुर्दा का स्थान है, जहां 25 मौतें हुई हैं। नए 1,602 मामलों में 993 क्वारंटीन सेंटरों के और 609 स्थानीय संपर्को से हुए संक्रमण के मामले हैं।

टेस्टिंग को लेकर भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (ICMR) ने बताया कि, कल(31 जुलाई) तक कोरोना वायरस के लिए कुल 1,93,58,659 सैंपल का टेस्ट किया गया, जिनमें से 5,25,689 सैंपल का टेस्ट शुक्रवार को ही किया गया है।

लॉकडाउन के बाद कई राज्य बोर्ड्स ने अपनी परीक्षाएं स्थगित की थीं। इससे बहुत से छात्रों को लगता है कि उन्हें इसका नुकसान हुआ है। लेकिन इस साल नुरुद्दीन की किस्मत ने साथ दिया और वो 33 साल बाद दसवीं की परीक्षा पास कर पाए।

देश में अब हर दिन करीब 45 से 50 हजार के बीच मामले आ रहे हैं, जिससे देश में कोरोना वायरस के मामले 16 लाख के पार हो गए हैं और अब तक इस वायरस से 35 हजार से अधिक लोग जान गंवा चुके हैं।