वाराणसी

पीएम मोदी का एयरपोर्ट पर कुछ यूं किया गया स्वागत, देखें तस्वीरें

सूत्रों की मानें तो यह शपथ ग्रहण पिछली बार की तरह शाम 4 से 5 बजे के बीच ही होगा। इससे पहले प्रधानमंत्री 28 मई को काशी जा सकते हैं और वहां धन्‍यवाद सभा को संबोधित कर सकते हैं। वहीं पीएम मोदी अपनी मां हीरा बेन से आशीर्वाद लेने गांधीनगर जा सकते हैं।

वाराणसी के ज्योतिषियों के अनुसार, ग्रहों की यह स्थिति भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को लोकसभा में सबसे बड़ी पार्टी तो बन सकती है, लेकिन हो सकता है भाजपा बहुमत तक न पहुंच सके।

मायावती ने कहा, "काशी को विकसित करने में स्वच्छता और बुनकरों की समस्याओं को दूर करने का जो वादा किया गया, वह भी पूरा नहीं हो सका है। पीएम ने यहां सैकड़ों प्राचीन मंदिरों को तुड़वाया है जिससे सैकड़ों परिवारों को दुख झेलना पड़ा।

सुषमा स्वराज ने यहां एक चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए कहा, "वर्ष 2008 में मुंबई आतंकी हमले में मारे गए लोगों में 40 दूसरे 14 देशों के थे। तब कांग्रेस सरकार इसे अंतर्राष्ट्रीय मुद्दा बनाकर पाकिस्तान को वैश्विक स्तर पर अलग-थलग कर सकती थी, लेकिन वह सफल नहीं हुई।"

चौहान ने बताया कि रोड शो को लेकर कांग्रेसी कार्यकर्ताओं में खासा उत्साह नजर आ रहा है। रोड शो के दौरान शहनाई और डमरू के साथ शंखनाद की भी व्यवस्था की गई है। साथ ही पूरे रोड शो के दौरान पुष्पवर्षा की भी व्यवस्था की गई है।

बनारस में चल रही राजनीतिक हलचलों से अल्लाह के काम में बाधा पहुंच रही है और वह अब पहले की तरह मंदिर में खुलेआम न जाकर चुपके से जाता है, ताकि किसी को पता न चल सके कि वह मुसलमान होकर मंदिर में काम करता है।

रविवार को पीएम मोदी ने ट्विटर पर एक ट्वीट किया जिसमें हीरालाल यादव के निधन पर शोक संदेश लिखा है। आखिर कौन हैं हीरालाल यादव जिनके आत्मा की शांति के लिए देश के प्रधानमंत्री ने भगवान से प्रार्थना की है।

स्मृति ईरानी यहीं नहीं रुकीं उन्होंने राहुल गांधी का नाम लिए बिना कहा, ''ये वो लोग हैं जो पांच साल में एक बार जनेऊ पहनते हैं, पांच साल के लिए विदेशी दौरे पर जाते हैं और चुनाव के समय गंगा दर्शन के लिए आ जाते हैं।''

ग्रामीणों ने गांव में जगह-जगह 'यह चौकीदारों का गांव है, यहां चोरों का आना वर्जित' लिखा पोस्टर लगाया है। गांव में रहने वाले भाजपा से जुड़े कार्यकर्ताओं का कहना है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 23 अक्टूबर 2017 को ककहरिया गांव गोद लिया था।