वाशिंगटन पोस्ट

अमेरिका (America) ने चीन (China) पर बड़ा दावा किया है। अमेरिकी अखबार वाशिंगटन पोस्ट (Washington Post) का कहना है कि चीन लोगों पर प्रयोगात्मक तौर पर कोरोना वैक्सीन (Corona Vaccine) का इस्तेमाल करने वाला पहला देश है।

तथ्यों ने एक बार फिर साबित कर दिया कि शिथिलता की कीमत काफी महंगी है। वेंटिलेटर, मास्क और अन्य सुरक्षात्मक उपकरणों के भंडारण का अवसर चूक गया।

जिस स्थान पर गोलीबारी हुई है, वहां स्थानीय पुलिस पहुंच गई है और इलाके को पूरी तरह से बंद कर दिया गया है। वाशिंगटन (डी.सी) की सड़कों में देर रात गोलियों की तड़तड़ाहट सुनी गई।

कश्मीरी पंडितों ने इस अखबार से पूछा कि आखिर उसने कश्मीरी पंडितों के साथ हुए भयानक नरसंहार के बारे में कुछ क्यों नहीं लिखा? उसने इस पहलू को नजरअंदाज क्यों किया कि 370 और 3 ए के तहत अल्पसंख्यकों, महिलाओं और कमजोर तबकों को उनके लोकतांत्रिक अधिकारों से वंचित कर दिया गया था।