वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण

Forbes 2020 list: फोर्ब्स ने साल 2020 (Forbes 2020 list) दुनिया की सर्वाधिक 100 शक्तिशाली महिलाओं की सूची जारी की है। खास बात ये है दुनिया की 100 ताकतवर महिलाओं की इस लिस्ट में केंद्र की मोदी सरकार में वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) को भी शामिल किया गया है।

Nirmala Sitharaman Press Conference Updates: वित्तमंत्री ने कहा कि जीएसटी कलेक्शन जैसे कई आंकड़े बेहतर आये हैं और रिजर्व बैंक ने यह संकेत दिया है कि तीसरी तिमाही में ही इकोनॉमी पॉजिटिव जीडीपी ग्रोथ हासिल कर सकती है।

FM Nirmala Sitharaman : त्योहारी सीजन से पहले मोदी सरकार (Modi Govt) ने सरकारी कर्मचारियों को बड़ा तोहफा दिया है। वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण (Finance Minister Nirmala Sitharaman) ने सोमवा को मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि महामारी से अर्थव्यवस्था प्रभावित हुई है।

GST Council : कोरोना (Coronavirus) संक्रमण की चैन तोड़ने के लिए केंद्र सरकार ने मार्च में ही लॉकडाउन का ऐलान कर दिया था, जिसके चलते अर्थव्यवस्था पूरी तरह से पटरी से उतर गई है। इस दौरान केंद्र सरकार भी राज्यों को जीएसटी का भुगतान नहीं कर पाई।

Finance Minister Nirmala Sitharaman : कोरोनावायरस (Coronavirus) संक्रमण की चैन को तोड़ने के लिए केंद्र सरकार ने देशव्यापी लॉकडाउन लगाया था। जिसके चलते देश की अर्थव्यवस्था को भारी नुकसान हुआ है। इतना ही नहीं देशव्यापी लॉकडाउन के कारण अप्रैल-जून तिमाही में सकल घरेलू उत्पाद (GDP) में 23.9 फीसदी की गिरावट दर्ज की है।

Insolvency and Bankruptcy Code: शनिवार को राज्यसभा (Rajya Sabha) में इन्सॉल्वेंसी एंड बैंकरप्सी (सेकंड एमेंडमेंट) 2020 विधेयक पास हो गया है। वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) ने इस विधेयक को राज्यसभा में आज पेश किया। ​

वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण (Finance minister Nirmala Sitharaman) ने गुरुवार को कहा कि जीएसटी (GST) मुआवजे को अनावश्यक रूप से मुद्दा बनाकर विपक्ष राजनीति करना चाहता है।

भारतीय रेल महाराष्ट्र के देवलाली से बिहार के दानापुर के लिए पहले किसान स्पेशल पार्सल ट्रेन को शुक्रवार को हरी झंडी दिखाकर रवाना करेगी।

पिछले कुछ हफ्तों में ऋण प्रदान किए जाने की दर में काफी उछाल आया है और सिर्फ पिछले छह दिनों में एक जुलाई तक मंजूरी 10,000 करोड़ रुपये तक बढ़ गई, जबकि संवितरण बढ़कर 7,000 करोड़ रुपये तक पहुंच गया है।

राहुल ने एक ट्वीट में कहा, "यदि भारत सरकार ने अर्थव्यवस्था को चालू करने के लिए उसमें नकदी नहीं डाली तो गरीब तो खत्म हो जाएंगे और मध्य वर्ग नया गरीब बन जाएगा। क्रोनी कैपिटलिस्ट्स पूरे देश के मालिक बन जाएंगे।"