विपक्ष

Rahul Gandhi: सीपीआई का कहना है कि राहुल गांधी को ऐसी सीट से लड़ना चाहिए, जहां बीजेपी से कांग्रेस की सीधी जंग हो। सीपीआई की तरफ से वायनाड सीट को लेकर की गई इस मांग का समर्थन केरल में सत्तारूढ़ वामदलों में शामिल सीपीएम ने भी किया है। इससे कांग्रेस-वामदलों में टकराव की आशंका है।

BJP Parliamentary Party Meeting: प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि इस बात में कोई दो मत नहीं है कि संसद की सुरक्षा में हुई सेंध दुर्भाग्यपूर्ण है। आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। इन सभी के खिलाफ विधिक कार्रवाई की जा रही है, लेकिन इस पूरे मसले को लेकर विपक्ष जिस तरह से संसद में अमर्यादित व्यवहार कर रहा है, वह निंदनीय है। इसकी आलोचना की जानी चाहिए।

Parliament Security Breach: आपको बता दें कि इस पूरे मुद्दे को लेकर पिछले कई दिनों संसद में हंगामा मचा हुआ है। सत्तापक्ष और विपक्ष दोनों ही एक-दूसरे के खिलाफ आक्रमक मुद्रा में नजर आ रही है। इस मामले को लेकर हंगामा करने के मामले में अब तक 15 सांसदों को शेष सत्र से निलंबित कर दिया गया है।

माना जा रहा है कि चुनाव आयोग छत्तीसगढ़ में 2 चरणों में वोटिंग करा सकता है। बाकी राजस्थान, मध्यप्रदेश, तेलंगाना और मिजोरम में एक ही चरण में वोटिंग कराने का एलान हो सकता है। विधानसभा के चुनाव नवंबर से लेकर दिसंबर तक कराए जाने की उम्मीद है।

बिहार में जातिगत जनगणना की रिपोर्ट सार्वजनिक करने के बाद अब सियासत गरमा गई है। कांग्रेस और जेडीयू समेत विपक्ष के तमाम दल इसे ऐतिहासिक बता रहे हैं। वहीं, बीजेपी की तरफ से पीएम नरेंद्र मोदी ने किसी का नाम न लिए बगैर निशाना साधा है। आने वाले दिनों में ये मुद्दा और गरमा सकता है।

Issues Of Lok Sabha Election: लोकसभा चुनाव में करीब 6 महीने बचे हैं। इससे पहले राजस्थान, मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और तेलंगाना जैसे अहम राज्यों में विधानसभा चुनाव हैं। राज्यों के विधानसभा चुनाव सेमीफाइनल हैं। इन अहम चुनावों से पहले विपक्ष ने 3 मुद्दे तय किए हैं। अब नजर इस पर है कि पीएम मोदी किस तीर से इनको काटते हैं।

इस बिल के प्रावधानों को लेकर विपक्ष मोदी सरकार पर हमलावर है। महिला आरक्षण बिल में कहा गया है कि 2027 के परिसीमन के बाद ही इसे लागू किया जाएगा। कांग्रेस और आम आदमी पार्टी समेत विपक्ष के दल कह रहे हैं कि 2021 वाली जनगणना ही नहीं हुई, तो मुश्किल है कि 2027 में परिसीमन हो।

सर्वदलीय बैठक में मोदी सरकार ने विपक्षी दलों को ये जानकारी नहीं दी है कि जो 4 बिल पहले पेश करने की जानकारी दी गई थी, उससे अलग क्या बिल लाए जाएंगे। इस पर कांग्रेस ने सवाल खड़ा किया है। चर्चा इसकी है कि मोदी सरकार संसद के विशेष सत्र में गेमचेंजर बिल लाने जा रही है।

संसद का विशेष सत्र 18 सितंबर से शुरू होने जा रहा है। संसद का ये विशेष सत्र 22 नवंबर तक रखा गया है। 18 नवंबर को संसद के सत्र की शुरुआत पुराने भवन से होगी। 19 नवंबर को गणेश चतुर्थी के मौके पर पूजा-पाठ के बाद नए संसद भवन में सत्र चलेगा। संसद सत्र से पहले 17 सितंबर को सर्वदलीय बैठक होनी है।

आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि आखिर चीन के मसले पर पीएम मोदी क्या वाकई कुछ नहीं कर रहे और विपक्ष के आरोपों में कितना दम है कि सरकार चीन से डर गई है। भारत और चीन के बीच 2020 में लद्दाख के गलवान घाटी के संघर्ष के बाद तनाव बहुत ज्यादा है। इस खबर को पढ़कर आपको हकीकत का पता चलेगा।