विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ)

पदभार संभालने के बाद स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने कहा कि मुझे पता है कि वैश्विक संकट के समय में मैं इस कार्यालय में प्रवेश कर रहा हूं। अगले 2 दशकों में कई स्वास्थ्य चुनौतियां होंगी। इन चुनौतियों से हम सब मिलकर लड़ेंगे। उन्होंने कहा कि भारत मौजूदा वक्त में कोरोना से दृढ़ संकल्प के साथ लड़ रहा है।

ट्रंप ने चिट्ठी में आगे लिखा है कि अमेरिका विश्व स्वास्थ्य संगठन में अपनी मेंबरशिप पर भी दोबारा विचार कर सकता है। गौरतलब है कि अमेरिका की ओर से लगातार इस बात का आरोप लगाया गया है कि डब्ल्यूएचओ ने कोरोनावायरस के मामले में घोर लापरवाही बरती है और पूरी तरह से चीन का पक्ष लिया है, इसी वजह से दुनिया को भुगतना पड़ रहा है।

उन्होंने पूछा कि प्रदेश के किस लैब में रोज कितने टेस्ट हो रहे हैं। केजीएमयू समेत प्रदेश के अन्य टेस्टिंग लैब की प्रतिदिन क्षमता क्या है? यह आंकड़ा जनता के समक्ष रखना बहुत ही महत्वपूर्ण है।

डब्ल्यूएचओ ने आगे चेताते हुए कहा, "बीसीजी वैक्सीन बच्चों में ट्यूबरक्लोसिस के गंभीर परिणामों को रोकने में मददगार होती है लेकिन स्थानीय आपूर्ति होने पर इससे बीमारी बढ़ने और ट्यूबरक्लोसिस के चलते मौत के मामलों में वृद्धि देखने को मिल सकती है।"

संयुक्त राष्ट्र महासचिव गुटेरेस ने कहा कि मौजूदा स्वास्थ्य संकट के खत्म होने पर इस बात का अध्ययन करने के लिए समय होगा कि इस तरह की बीमारी कैसे उभरी और इतनी तेजी से कैसे फैल गई। साथ ही इसमें शामिल सभी पक्षों के प्रदर्शन का मूल्यांकन किया जा सकेगा।

केंद्र सरकार ने शनिवार को कहा कि कोविड-19 से निपटने के लिए देश की प्रतिक्रिया काफी सक्रिय रही है। वायरस के प्रकोप से पार पाने के लिए देश के प्रयासों की सराहना करते हुए सरकार ने कहा कि विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) की ओर से स्वास्थ्य आपातकाल घोषित करने से पहले ही भारत ने अपनी सीमाओं पर एक व्यापक प्रतिक्रिया प्रणाली को अपना लिया था।

शुरुआत में ही भारत में लॉकडाउन किए जाने के फैसले पर विश्व स्वास्थ्य संगठन के अध्यक्ष ट्रेडोस ने कहा कि "हम वास्तव में भारत में इस समय जो हो रहा है उसकी सराहना करते हैं।

उन्होंने कोरोना के मामले में भारत से उम्मीद भी जताई और कहा, 'भारत ने स्मॉल पॉक्स और पोलियो के उन्मूलन में दुनिया का नेतृत्व किया। भारत में जबरदस्त क्षमता है, सभी देशों में जबरदस्त क्षमता है, जब समुदायों और नागरिक समाजों को जुटाया जाता है।''

देश में कोरोनावायरस का प्रकोप लगातार बढ़ता जा रहा है। भारत में कोरोनावायरस संक्रमण के मामलों की संख्या शनिवार को 300 के करीब पहुंच गई है। कोरोना की तमाम चिंताओं के बीच एक राहत भरी खबर सामने आई है। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कोरोना पर मोदी सरकार द्वारा उठाए गए कदमों की एक बार फिर तारीफ की है। 

भारत के महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के सेफ हैंड्स चैलेंज अभियान जुड़े हैं, जहां वह कोरोनावायरस से बचाव के लिए हाथ धोने का महत्व बता रहे हैं। सचिन ने एक वीडियो शेयर किया है।