व्हाइट हाउस

ट्रंप ने कहा कि दंगा, लूटपाट, बर्बरता, हमले और संपत्ति के विनाश को रोकने के लिए सभी उपलब्ध संघीय संसाधनों और सेना को जुटाएंगे और कानून का पालन करने वाले अमेरिकियों के अधिकारों की रक्षा करेंगे। उन्होंने कहा कि हम उन दंगों और अराजकता को समाप्त कर रहे हैं जो पूरे देश में फैले हुए हैं।

अमेरिका में अश्वेत जॉर्ज फ्लॉयड की हत्या के विरोध में हो रहे हिंसक प्रदर्शनों की आंच व्हाइट हाउस तक पहुंच चुकी है। वाशिंगटन डीसी में शुक्रवार रात व्हाइट हाउस के बाहर प्रदर्शनकारियों के जमा होने पर राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को कुछ समय के लिए एक भूमिगत बंकर में ले जाया गया था।

बता दें कि इस दवा के इस्तेमाल से कोरोना के मरीजों में मौत की संभावना बढ़ने के दावे के चलते एहतियात के तौर पर WHO ने इसपर अस्थायी रोक लगाई थी।

व्हाइट हाउस ने अपनी रिपोर्ट में कहा, बीजिंग अपने सिद्धातों का उल्लंघन कर रहा है और यलो सी, ईस्ट व साउथ चाइना सी, ताइवान स्ट्रेट और भारत-चीन सीमा में उकसाने वाली गतिविधियां कर पड़ोसी देशों के प्रति अपनी ही प्रतिबद्धताओं का मजाक बना रहा है।

सीएनएन की एक रिपोर्ट के हवाले से सिन्हुआ समाचार एजेंसी ने शुक्रवार को कहा, "इवांका के वैयक्तिक सहायक के रूप में काम करने वाले उनके सचिव पिछले कई हफ्तों से उनके साथ नहीं रहे हैं।"

हाल ही में व्हाइट हाउस ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ट्विटर पर फॉलो किया था, हालांकि अब दोनों नेताओं के ट्विटर हैंडल व्हाइट हाउस की फॉलोइंग सूची में नहीं हैं।

चीन से दुनिया भर में फैले कोरोना वायरस से निजात पाने के लिए अमेरिका ने पहले भारत से हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन दवा मांगी। ऐसा प्रतीत होता है कि भारत ने जब आगे बढ़कर अमेरिका को दवा भेज दी है, उसके बाद से व्हाइट हाउस का रुख ही बदल गया है।

इससे पहले मलेरिया की दवा देने पर अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने न सिर्फ भारत की प्रशंसा की थी बल्कि पीएम नरेंद्र मोदी को महान नेता करार दिया था। ट्रंप के इस बयान के बाद व्हाइट हाउस के ट्विटर हैंडल ने पीएम मोदी और राष्‍ट्रपति कार्यालय को फॉलो करना शुरू कर दिया था।

व्हाइट हाउस अब ट्विटर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, प्रधानमंत्री कार्यालय, राष्ट्रपति भवन, अमेरिका में भारतीय दूतावास और भारत में अमेरिकी दूतावास को फॉलो किया है। इनके अलावा भारत में अमेरिका के राजदूत केन जस्टर को भी फॉलो किया गया है।

सीएनएन ने व्हाइट हाउस में राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की प्रेस ब्रिफिंग के हवाले से कहा, "मैं आज यह बता रहा हूं कि यूनाइटेड स्टेट में हमने अब तक अत्यधिक जटिल और बेहद सटीक 20 लाख (2 मिलियन) टेस्ट कराए हैं।"