शाकिब अल हसन

शाकिब ने अपने देश के लिए 56 टेस्ट मैच खेले हैं। इसके अलावा उन्होंने अपने देश के लिए 206 वनडे और 76 टी-20 मैच खेले हैं। पिछले साल इंग्लैंड में हुए विश्व कप में उन्होंने टीम के लिए दमदार प्रदर्शन किया था।

बांग्लादेश की 15 सदस्यीय टीम बुधवार को यहां दिल्ली पहुंच गई जबकि एक दिन पहले ही उनके हरफनमौला खिलाड़ी शाकिब पर सट्टेबाजी की पेशकश की जानकारी नहीं देने के कारण आईसीसी द्वारा दो साल का प्रतिबंध (एक साल का निलंबित प्रतिबंध) लगाया गया है।

जानकारी छिपाने के कारण ही अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने मंगलवार को एक बड़ा फैसला लेते हुए शाकिब पर दो साल का प्रतिबंध लगाया।शाकिब ने भ्रष्टाचार-रोधी संहिता के उल्लंघन के तीन आरोपों को स्वीकार किया।

बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड ने बांग्लादेश प्रीमियर लीग के एक नियम में बदलाव किया है जिसके अंतर्गत हर बीसीएल टीम को प्लेइंग इलेवन में कम से एक एक लेग स्पिनर को शामिल करना अनिवार्य किया गया है।

बांग्लादेश को इस विश्व कप के अपने आखिरी मैच में शुक्रवार को पाकिस्तान से 94 रनों से हार का सामना करना पड़ा। इस मैच में भी शाकिब ने 64 रनों की पारी खेली। इसी के साथ वह इस विश्व कप में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज भी बने।

अफगानिस्तान को बांग्लादेश ने 62 रनों से करारी शिकस्त दी। बांग्लोदश की इस जीत में शाकिब अल हसन ने अहम भूमिका निभाई। उन्होंने गेंद से 10 ओवर में महज 29 रन देकर पांच विकेट लिए जबकि बल्लेबाजी के दौरान 51 रनों की पारी खेली। उन्हें 'मैन ऑफ द मैच' चुना गया।

शाकिब ने गेंद से 10 ओवर में महज 29 रन देकर पांच विकेट लिए जबकि बल्लेबाजी के दौरान उन्होंने 51 रनों की पारी खेली। उन्हें 'मैन ऑफ द मैच' भी चुना गया। उनके इस बेहतरीन प्रदर्शन की बदौलत बांग्लादेश ने यह मुकाबला 62 रनों से जीता।

शाकिब (51) को आउट करके मुजीब उर रहमान ने विपक्षी टीम को तीसरा झटका दिया। सौम्य सरकार (3) भी ज्यादा देर नहीं टिक पाए और मुजीब को अपना विकेट दे बैठे।

दुनिया के नंबर-1 हरफनमौला खिलाड़ी शाकिब के अब चार मैचों में 384 रन हो गए हैं। उन्होंने आस्ट्रेलियाई कप्तान एरॉन फिंच को इस स्थान से अपदस्थ किया है। फिंच के 343 रन हैं।

विंडीज ने पहले बल्लेबाजी करते हुए शाई होप (96), इविन लुइस (70) और शिमरन हेटमायेर के तेज 50 रनों के दम पर बांग्लादेश के सामने 322 रनों का लक्ष्य रखा। विंडीज के गेंदबाजी फॉर्म में है और यही देखते हुए बांग्लादेश की जीत की संभावनाएं कम लग रही थीं, लेकिन बांग्लादेश ने सिर्फ 41.3 ओवरों में तीन विकेट खोकर लक्ष्य हासिल कर लिया।