शाहीनबाग

क्राइम ब्रांच के सूत्रों के मुताबिक, खालिद सैफी उमर खालिद को जानता है और उमर खालिद और ताहिर हुसैन के बीच मुलाकात इसने ही करवाई थी।

दिल्ली के शाहीनबाग में नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ चल रहे प्रदर्शन को बंद करवाने को लेकर दो गुट शनिवार देर रात आपस में भिड़ गए। दोनों पक्षों में करीब आधे घंटे तक मारपीट और गालीगलौज हुई। एक गुट चाहता था कि प्रधानमंत्री के द्वारा 'जनता कर्फ्यू' के ऐलान का समर्थन किया जाए, जबकि दूसरा गुट इस आह्वान का पालन करने को तैयार नही था।

शाहीनबाग में नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के खिलाफ जारी प्रदर्शन से जुड़े एक प्रदर्शनकारी में कोरोनावायरस की पुष्टि हुई है। जहांगीरपुरी निवासी इस शख्स की बहन इसी महीने सऊदी अरब से आई है, जो संक्रमित पाई गई है।

दिल्ली पुलिस ने प्रदर्शनकारियों से अपील की है कि पूरे देश में कोरोनावायरस फैल रहा है , इसलिए वो प्रदर्शन बंद कर दें। कम से कम जनता कर्फ्यू वाले दिन प्रदर्शन नहीं करें।

सुप्रीम कोर्ट द्वारा नियुक्त किए गए वार्ताकारों में से एक वजाहत हबीबुल्ला ने शाहीन बाग में सड़क अवरोध पर एक हलफनामा दायर किया है। उन्होंने हलफनामे में कहा कि पुलिस ने शाहीन बाग के आसपास पांच रास्तों को बंद कर रखा है।

शाहीनबाग में आंदोलन कर रहे प्रदर्शनकारियों के बीच कुछ समय से मतभेद देखने को मिल रहा है। पहले जहां प्रदर्शन खत्म करने और न करने को लेकर अलग-अलग गुटबाजी देखने को मिली थी, वहीं अब इस प्रदर्शन की अगुवाई को लेकर विवाद बढ़ता जा रहा है।

भाजपा प्रवक्ता डॉ. सय्यद जफर इस्लाम ने कहा, मुझे लगता है, सुप्रीम कोर्ट ने संज्ञान लिया है ठीक किया है, क्योंकि काफी समय हो गया, धरना दे रहे लोगों को परेशानी हो रही है।

राष्ट्रीय राजधानी के शाहीनबाग में नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) और एनआरसी के खिलाफ लगभग दो महीने प्रदर्शन कर रहीं महिलाओं का कहना है कि 14 फरवरी को वैलेंटाइंस-डे के मौके पर वे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को प्यार का पैगाम देना चाहती हैं।

खास बात यह है कि आप के अमानतुल्लाह खान ने 100726 वोट हासिल कर जीत का लक्ष्य हासिल कर लिया है। 8 फरवरी को हुए मतदान में इस सीट पर कुल 197170 वोट पड़े।

दिल्ली चुनाव को लेकर मतगणना जारी है, वहीं शाहीनबाग में नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) और एनआरसी को लेकर विरोध प्रदर्शन भी जारी है। आज शाहीनबाग में सुबह से ही काफी शांति दिखाई दी जब इसकी वजह जानी तो एक अलग ही नजारा देखने को मिला।