शाहीन बाग

दिल्ली के शाहीन बाग में नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के खिलाफ जारी विरोध प्रदर्शनों के बीच रविवार को धारा 144 लागू कर दी गई है। शाहीन बाग में दिल्ली पुलिस ने नोटिस जारी कर कहा है कि इस क्षेत्र में न इकट्ठे हों, न ही प्रदर्शन करें। इस आदेश को न मानने वालों के खिलाफ कानूनी कार्यवाही की जाएगी।

अभिनेत्री स्वरा भास्कर की मुश्किलें बढ़ सकती हैं। स्वरा भास्कर के खिलाफ दिल्ली हाईकोर्ट ने दिल्ली पुलिस को नोटिस जारी किया है।

दिल्ली के शाहीन बाग प्रदर्शन मामले में सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को सुनवाई से फिलहाल इनकार कर दिया है। कोर्ट का कहना है कि सुनवाई के लिए अभी माहौल ठीक नहीं है, अब अगली सुनवाई होली के बाद 23 मार्च को होगी।

शाहीन बाग में एक तरफ का रोड खुले अभी एक दिन भी नहीं बीता कि अब नॉर्थ ईस्ट दिल्ली में भी शाहीन बाग जैसे प्रदर्शन शुरू हो चुके हैं। यहां जाफराबाद के बाद चांदबाग में सड़क को जाम कर दिया गया है।

प्रदर्शनकारियों के इकट्ठा होने व उनके सड़क पर बैठने की वजह से इस रास्ते से लोगों की आवाजाही बंद हो गई है। प्रदर्शनकारी महिलाओं ने रोड नंबर 66 जाम कर रखा है, ये सड़क सीलमपुर को मौजपुर और यमुना विहार से जोड़ती है।

प्रदर्शनकारियों का कहना है कि सुप्रीम कोर्ट द्वारा नियुक्त किए गए वार्ताकारों से बातचीत के बाद अबुल फजल वाले रास्ते को खोलने का फैसला लिया गया है। हालांकि प्रदर्शनकारियों में आपसी सहमति ना होने के कारण इसे दोबारा बंद कर दिया गया।

प्रदर्शनकारी महिलाओं ने वार्ताकार से कहा, जो हमारे ऊपर गलत टिप्पणियां हो रही हैं उस पर रोक लगनी चाहिए। प्रदर्शनकारियों ने कहा कि हम भी चाहते हैं कि 9 नंबर रोड खुल जाए।

तीन दौर की वार्ता में कोई नतीजा निकल कर सामने नहीं आया है। तीन दिन की बातचीत बेनतीजा निकलने के बाद अब चौथे शनिवार को साधना रामचंद्रन अकेले ही शाहीन बाग पहुंच गईं और प्रदर्शनकारियों से बात की।

गठबंधन सहयोगियों के बीच मतभेद की खबरों पर उद्धव ठाकरे ने कहा कि, "सहयोगियों के साथ कोई मतभेद नहीं, हम महाराष्ट्र सरकार पांच साल तक चलाने वाले हैं।"

बातचीत में वार्ताकार संजय हेगड़े ने कहा कि प्रदर्शन से किसी को परेशानी नहीं होनी चाहिए। हम चाहते हैं कि शाहीन बाग का प्रदर्शन देश के लिए मिसाल हो।