शाही स्नान

प्रयागराज कुंभ मेले के दूसरे शाही स्नान के दिन सोमवार को पूरा शहर श्रद्धालुओं की भीड़ से पटा रहा। आम दिनों में शहर की जिन सड़कों पर वाहन रफ्तार में चलते दिखते थे, वहां पुलिस के तमाम वाहन भी जाम की चपेट में फंसे दिखे। प्रयागराज में श्रद्धालुओं की ये भीड़ मंगलवार सुबह तक शहर के अलग अलग बस अड्डों और रेलवे स्टेशन पर खड़ी दिखी।

4 फरवरी को मौनी अमावस्या के दिन आज त्रिवेणी संगम की नगरी प्रयागराज में कुंभ का दूसरा शाही स्नान किया जा रहा है। 4 फरवरी सोमवार को माघ मास की यह अमावस्या पड़ी है। इसी दिन कुंभ के पहले तीर्थंकर ऋषभ देव ने अपनी लंबी तपस्या का मौन व्रत तोड़ा था और संगम के पवित्र जल में स्नान किया था।  

यह अमावस्या दुख-दारिद्र्य दूर करने तथा और सभी को सफलता दिलाने वाली मानी गई है। इस दिन पवित्र नदियों में स्नान से विशेष पुण्यलाभ प्राप्त होता है।

नई दिल्ली। प्रयागराज कुंभ में मंगलवार को मकर संक्रांति पर पहला शाही स्नान शुरू हो चुका है। इस स्नान की शुरुआत सुबह...

नई दिल्ली। प्रयागराज में कल से कुंभ मेला शुरू होने जा रहा है। इसी दिन पहला शाही स्नान भी होगा।...

नई दिल्ली। छह और बारह साल में होने वाले कुंभ और महाकुंभ का प्रमुख आकर्षण साधु-संतों के अखाड़े होते हैं।...