शिवराज सिंह चौहान

मध्य प्रदेश को शिवपुरी ज़िले से शर्मसार करने वाली फिर एक तस्वीर सामने आयी है। प्रवासी मज़दूरों के साथ पहले राजस्थान सरकार ने संगदिली दिखाई।

भोपाल। मध्य प्रदेश के ग्रामीण इलाकों में हर मजदूर को काम मिलेगा। इसके लिए राज्य सरकार ने श्रम सिद्धि अभियान...

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि संक्रमित क्षेत्रों को छोड़कर रेड जोन में भी लॉकडाउन से कुछ छूट दी जा सकती है।

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शनिवार को कहा कि उन्होंने राज्य के बार्डर के पास मजदूरों को उनके संबंधित राज्यों के बार्डर तक पहुंचाने के लिए 1000 से ज्यादा बसों की व्यवस्था की है।

मध्य प्रदेश सरकार ने लॉकडाउन खोलने के संबंध में आम लोगों से सुझाव मांगे हैं। राज्य सरकार की ओर से इसी आधार पर 15 मई को प्रस्ताव तैयार कर केंद्र सरकार को भेजा जाएगा।

मध्य प्रदेश में सत्ता में वापस आने के बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने एक बार फिर गरीब वर्ग के लिए संबल योजना की शुरुआत की है।

ज्योतिरादित्य सिंधिया के फोन कॉल ने राज्य की सियासत गरमा दी है और कांग्रेस पार्टी को हमलावर होने का मौका दे दिया है।

मध्य प्रदेश में निजी चिकित्सकों एवं चिकित्सा कर्मियों का भी कोरोनावायरस संकट काल में शासकीय चिकित्सा कर्मियों की तरह 50 लाख रुपये का बीमा कराया जाएगा।

कोरोनावायरस के संक्रमण के चलते देशव्यापी लॉकडाउन है, जिससे बड़ी संख्या में मध्य प्रदेश के मजदूर दूसरे राज्यों में फंसे हुए हैं।

कमलनाथ ने एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा, "यह जाहिर है कि सबकुछ सामान्य दिखाने के लिए संसद को चलाया गया और जब शिवराज सिंह चौहान ने शपथ ले ली, तो लॉकडाउन की घोषणा कर दी गई।"