शिवसेना

प्रेस कांफ्रेंस हो या फिर टीवी पर डिबेट, कई जगहों पर कांग्रेस का पक्ष मजबूती से रखने वाली प्रियंका चतुर्वेदी अब कांग्रेस का साथ छोड़ चुकी हैं। उन्होंने कांग्रेस से इस्तीफा देकर शिवसेना का दामन थाम लिया है।

शिवसेना सांसद संजय राउत ने कानून एवं चुनाव आयोग को लेकर विवादित बयान दिया है। उन्होंंने लोकसभा चुनाव के दौरान आचार संहिता को लेकर विवादित बयान दिया है। 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने करीब 28 महीने बाद मंगलवार को एक मंच साझा किया। इस दौरान मोदी ने जनता को संबोधित करते हुए कहा कि हम पिछड़े मराठवाड़ा के लोगों की महत्वकांक्षाओं को व्यर्थ नहीं जाने देंगे और विकास कार्य को आगे बढ़ाने के साथ हम पर किए गए उनके विश्वास को टूटने नहीं देंगे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज महाराष्ट्र के लातूर में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए विपक्षी दलों पर जमकर निशाना साधा। पीएम मोदी ने कांग्रेस पर वार करते हुए कहा कि उसमें अक्ल होती तो पाकिस्तान पैदा ही नहीं होता।  

महाराष्ट्र में नौ आरक्षित सीटें हैं, जिनमें अनुसूचित जाति के अंतर्गत रामटेक, अमरावती, लातूर, सोलापुर, शिरडी और अनुसूचित जनजाति के अंतर्गत गढ़चिरौली-चिमुर, ढिंढोरी, पालघर, नंदुरबार शामिल हैं।

पहली बार लोकसभा चुनाव लड़ने जा रहे भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह रोड शो के बाद गांधीनगर लोकसभा सीट से नामांकन दाखिल किया।

भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष अमित शाह आज गांधीनगर सीट से नामांकन भरने वाले हैं। इस मौके पर एक शिवसेना चीफ उद्धव ठाकरे, एलजेपी प्रमुख रामविलास पासवान, शिरोमणि अकाली दल नेता प्रकाश सिंह बादल और केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह मौजूद हैं। अमित शाह आज 12.39 मिनट पर शुभ मुहूर्त में नामांकन भरेंगे।

इसी कड़ी में जहां एक तरफ आज मायावती ने बसपा से 11 उम्मीदवारों की सूची जारी कि है, वहीं दूसरी तरफ शिवसेना ने भी महाराष्ट्र से अपने 21 लोकसभा प्रत्याशियों की सूची जारी कि है।

कांग्रेस को भी चंद्रपुर में एक मजबूत प्रत्याशी की जरूरत है। धनोलकर चुनाव लड़ते हैं तो उनका सामना भाजपा के चार बार के सांसद व केंद्रीय मंत्री हंसराज अहीर से होगा।

पाकिस्तान के बालाकोट में की गई एयरस्ट्राइक को लेकर राजनीतिक विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। चूंकि कांग्रेस समेत कई विपक्षी पार्टियां इसको लेकर सबूत मांग रही हैं। बता दें कि सबूत मांगने वाली पार्टियों की फेहरिस्त में अब नया नाम शिवसेना का भी जुड़ गया है। शिवसेना ने कहा है कि देशवासियों को इस बात का सच जानने का हक है।