शिवसेना

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री और शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे आज (शुक्रवार) दिल्ली आ रहे हैं। वह शाम 4 बजे दिल्ली पहुंचेंगे। उद्धव का प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिलने का कार्यक्रम है।

बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने महाराष्ट्र के लिए बड़ा ऐलान कर दिया है। उन्होंने साफ कहा है कि महाराष्ट्र में अब बीजेपी अकेले चुनाव में उतरेगी। यहां ऑल वर्सेज वन होगा।

शिवसेना ने दिल्ली विधानसभा चुनावों में बीजेपी की हार पर जमकर खुशी ज़ाहिर की है। शिवसेना ने सामना में लिखा है कि दिल्ली विधानसभा चुनाव में ‘आप’ की जीत में आश्चर्यजनक जैसा कुछ भी नहीं।

सामना में जिन्ना का भी ज़िक्र किया गया, "गांधी जी अंग्रेजों के एजेंट थे। गांधी का स्वतंत्रता आंदोलन प्रायोजित था, ऐसा भाजपाई सांसद अनंत कुमार हेगड़े कहते हैं। ऐसा जो कहते हैं, उन्हें पाकिस्तान में व्याप्त अराजकता को देखना चाहिए। वहां बैरिस्टर जिन्ना सुखी और यहां गांधी बदनाम हैं, ऐसा दौर चल रहा है!"

संगठन के मुद्दे को लेकर कहा कि, इस संगठन का मुख्य मुद्दा हिंदुत्व रहेगा, उसके साथ ही किसानों गरीबों और मजदूरों की समस्याओं को भी उठाना हमारा मुद्दा रहेगा।

उन्होंने लिखा कि उनके कहने पर राहुल गांधी ने वादा किया था कि मुंबई के लोगों को एसआरए और सरकार की अन्य योजनाओं के तहत 500 स्क्वायर फीट का घर दिया जाएगा। इस वादे को पूरा किया जाए।

दरअसल शिवसेना अपने गठबंधन के चक्कर में फंस चुकी है। गठबंधन में शामिल कांग्रेस और एनसीपी जैसे दल सेकुलरिज्म के नाम पर हिंदू धर्म के प्रतीकों से दूरी बनाते आए हैं।

उद्धव ठाकरे ने अपने मुखपत्र सामना में राज ठाकरे और उनकी राजनीति को लेकर तंज कसा और उनके द्वारा पार्टी का झंडा और नारा बदलने पर सवाल भी उठाया।

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के अध्यक्ष शरद पवार के नई दिल्ली स्थित आधिकारिक आवास से सुरक्षा हटाए जाने को बदले की राजनीति करार देते हुए राकांपा और शिवसेना ने शुक्रवार को केंद्र सरकार पर निशाना साधा है।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, "महान बाला साहेब ठाकरे को उनकी जयंती पर नमन। साहसी और अदम्य बाला साहेब जन कल्याण के मुद्दे उठाने में कभी नहीं झिझके। उन्हें हमेशा भारतीय संस्कृति और मूल्यों पर गर्व रहा। उनसे लाखों लोग प्रेरित होते हैं।"